अब आगरा में हुआ गोरखपुर जैसा कांड, यूपी पुलिस की कस्टडी में एक मरा

Prachi Tandon, Last updated: Wed, 20th Oct 2021, 1:56 PM IST
  • आगरा थाने में 25 लाख की चोरी के आरोप में यूपी पुलिस ने एक सफाईकर्मी को अरेस्ट किया था. पुलिस हिरासत में पिटाई के दौरान आरोपी की मौत हो गई. इस घटना के बाद अखिलेश यादव और प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर निशाना साधा है.
यूपी पुलिस की पिटाई से आगरा थाने में चोरी के आरोपी की मौत.

आगरा. आगरा में थाने के मालखाने से हाल ही में 25 लाख की चोरी हुई थी. उत्तर प्रदेश पुलिस ने थाने में सफाई करने वाले को चोरी के आरोप में अरेस्ट किया था. पुलिस हिरासत में पिटाई के दौरान सफाईकर्मी की मौत हो गई है. सफाईकर्मी की मौत के बाद कई थानों की पुलिस फोर्स को बुलाया गया है. 

ताजनगरी के जगदीशपुरा थाने में 16 अक्टूबर की रात मालखाने का ताला तोड़कर 25 लाख कैश चोरी कर लिया गयाथा. जिसके बाद जगदीशपुरा थाना प्रभारी समेत छह पुलिसकर्मियों को सस्पेंड कर दिया गया था. इसके बाद पुलिस चोर को पकड़ने के लिए जुट गई थी. आगरा पुलिस ने मंगलवार को सफाईकर्मी अरुण को अरेस्ट कर लिया था. सफाईकर्मी के पास से पुलिस ने चोरी हुआ कैश भी जब्त किया था. पुलिस के अनुसार सफाईकर्मी अरुण के घर से चोरी हुए 25 लाख में से 15 लाख रुपए बरामद भी किए गए थे. 

चोरों पर नकेल कसने वाली पुलिस के थाने में 25 लाख और दो पिस्तौल की चोरी

आगरा एसएसपी मुनिराज ने जानकारी देते हुए बताया था कि सफाईकर्मी अरुण ने थाने में चोरी का आरोप स्वीकार किया था. पुलिस का कहना है कि जब कैश बरामद करने के लिए पुलिस सफाईकर्मी के घर पहुंची थी. तभी उसकी तबीयत खराब हो गई थी. पुलिस का कहना है कि अरुण को उसके परिजनों के सामने अस्पताल लेकर जाया गया था. चोरी आरोपी को जैसे ही पुलिस और परिवार के लोग अस्पताल लेकर पहुंचे तो उसे वहां मृत घोषित कर दिया गया था. 

इस घटना पर सपा नेता अखिलेश यादव और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष प्रियंका गांधी ने योगी सरकार पर निशाना साधा है. अखिलेश यादव ने कहा, भाजपा सरकार में पुलिस खुद अपराध कर रही है तो फिर अपराध कैसे रुकेगा? आगरा में पहले सांठगांठ कर थाने के मालखाने से 25 लाख की चोरी कराई गई फिर सच छिपाने के लिए गिरफ्तार किए गए सफाईकर्मी की कस्टडी में हत्या स्तब्ध करती है! हत्यारे पुलिस कर्मियों पर हो सख्त कार्रवाई. वहीं प्रियंका गांधी ने ट्वीट में लिखा, किसी को पुलिस कस्टडी में पीट-पीटकर मार देना कहां का न्याय है? आगरा पुलिस कस्टडी में अरुण वाल्मीकि की मौत की घटना निंदनीय है. भगवान वाल्मीकि जयंती के दिन उप्र सरकार ने उनके संदेशों के खिलाफ काम किया है. उच्चस्तरीय जांच व पुलिस वालों पर कार्रवाई हो व पीड़ित परिवार को मुआवजा मिले.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें