स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में देरी के कारण 4 कंपनियों पर लगा 4.72 करोड़ का जुर्माना

Smart News Team, Last updated: 16/12/2020 01:59 PM IST
  • आगरा को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए कार्य जारी है. लेकिन प्रोजेक्ट के लेट करने और इसमें लापरवाही बरतने को लेकर चार कंपनियों पर 4.72 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है. इसमें भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड पर ही सबसे ज्यादा जुर्माना लगाया गया है.
आगरा के स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट पर 4 कम्पन्यियों पर लगा जुर्मना

आगरा: आगरा को स्मार्ट सिटी बनाने के लिए कार्य जारी है. लेकिन प्रोजेक्ट के लेट करने और इसमें लापरवाही बरतने को लेकर चार कंपनियों पर 4.72 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है. आगरा स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के लिए इंटीग्रेटेड कंट्रोल एंड कमांड सेंटर से जुड़े सीसीवीटी कैमरे लगाने में देरी की गई, जिसके लिए भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड पर भी जुर्माना लगाया गया. इसके साथ ही धूल नियंत्रण के उपाय न करने पर भी चार कंपनियों पर जुर्माने की कार्रवाई की गई है.

कंपनियों पर लगाए गए जुर्माने के बारे में बात करते हुए आगरा स्मार्ट सिटी के सीईओ निखिल टी.फुंडे ने बताया कि सीसीटीवी कैमरे लगाने में देरी करने पर भारत इलेक्ट्रॉनिक्स लिमिटेड पर करीब 1.62 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है. यह पहली बार नहीं है जब इस कंपनी पर जुर्माना लगाया गया हो. इससे पहले भी कंपनी पर करीब 28 लाख रुपये का जुर्माना लग चुका है, जिसके बाद अब कंपनी को 1.90 करोड़ रुपये अदा करने होंगे.

आगरा: फांसी के फंदे पर लटका मिला महिला का शव, पति गिरफ्तार

दूसरी और फतेहाबाद रोड पर चले रहे प्रोजेक्ट में हुई देरी को लेकर देव कंस्ट्रक्शन कंपनी पर भी करीब 1.20 करोड़ रुपये का जुर्माना लगाया गया है. इससे इतर जीवनी मंडी और ताजगंज के बीच 1200 मिमी की पाइप लाइन बिछाने में एसबी एंटरप्राइजेज द्वारा देरी की जा रही है, जिसे लेकर उनपर भी 8 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया. साथ ही चेतावनी दी गई कि अगर जुर्माना अदा करने में देरी होती है तो 10 हजार रुपये का जुर्माना और लगाया जाएगा. इसके साथ ही धूल नियंत्रण न करने पर राधिका कंस्ट्रक्शन पर 1.50 लाख रुपये और एसबी एंटरप्राइजेज पर 1.50 लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें