आगरा

दलित परिवार को मंदिर में पानी भरने से रोका, गांव वालों ने उठना-बैठना किया बंद

Smart News Team, Last updated: 13/06/2020 11:01 AM IST
  • आगरा में एक दलित परिवार को पाने भरने से रोके जाने का मामला सामने आया है। आगरा के पैंथोली बंजारा (खेरागढ़) गांव में एक दलित परिवार को सार्वजनिक मंदिर में लगे नल से पानी भरने से रोक दिया गया है।
प्रतीकात्मक तस्वीर

दुनिया कहां से कहां पहुंच चुकी है मगर हमारा समाज अब भी छुआछूत और अस्पृश्यता की जाल में फंसा है। आगरा में एक दलित परिवार को पाने भरने से रोके जाने का मामला सामने आया है। आगरा के पैंथोली बंजारा (खेरागढ़) गांव में एक दलित परिवार को सार्वजनिक मंदिर में लगे नल से पानी भरने से रोक दिया गया है। पीड़ित परिवार का आरोप है कि मंदिर के पुजारी ने महिला से अभद्रता की और बाल्टियां फेंक दी। अब इस घटना का वीडियो वायरल हो गया है और पीड़ित ने पुलिस से मामले की शिकायत की है।

थाना खेरागढ़ के गांव पैंथोली बंजारा में बलवीर सिंह पत्नी मधू, बेटे दीपक और अजय के साथ रहता है। बलवीर ने एसएसपी को दिए प्रार्थनापत्र में शिकायत की है कि उसका पांच मई को गांव के एक परिवार से झगड़ा हुआ था। आरोपियों ने उसके साथ मारपीट की थी। मुकदमा दर्ज कराया गया। उसके बाद से गांव वालों ने परिवार के साथ उठना-बैठना बंद कर दिया। आरोप है कि गुरुवार को बलवीर के पत्नी मधू गांव में मंदिर परिसर में लगे सार्वजनिक नल से पानी भरने के लिए गई थी। वहां पुजारी पहुंच गए। महिला और उसके बेटों से अभद्रता करने लगे। बात इतने पर ही नहीं रुकी, धक्का- मुक्की भी कर दी। भविष्य में नल से पानी न भरने के लिए चेतावनी दे डाली।

पीड़ित परिवार ने 112 नंबर पर पुलिस को सूचना दी। पुलिस ने पुजारी को समझाया। पुलिस के जाने के बाद फिर से परिवार के साथ अभद्रता की गई। एसपी ग्रामीण (पश्चिम) रवि कुमार का कहना है कि मामले की जांच कराई जा रही है। जांच में दोषी पाए जाने के बाद आरोपितों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

अन्य खबरें