3 साल बाद इंसाफ! ढाई साल की बच्ची का अपहरण-रेप दोषी को आजीवन जेल

Smart News Team, Last updated: Sat, 10th Jul 2021, 9:28 AM IST
  • आगरा में 3 साल पहले ढाई साल की बच्ची से अपहरण के बाद बलात्कार मामले में आरोपी को पोक्सो एक्ट के तहत आजीवन कारावास की सजा सुनाया गया है. इसके साथ ही आरोपी पर लगाए गए जुर्माने की राशि में से आधा पैसा बच्ची को देने को कहा गया है.
पोक्सो एक्ट के तहत आजीवन करवा की सजा पाने वाला आरोपी दीपू पुलिस की गिरफ्त में. (फाइल फोटो)

आगरा : आखिरकार ढाई साल की बच्ची को न्याय मिल ही गया. करीब 3 साल पहले से ढाई साल की बच्ची का अपहरण के बाद बलात्कार करने वाले आरोपी को पोक्सो एक्ट के तहत आजीवन कारावास की सजा और 70 हजार जुर्माना लगाया गया है. सजा सुनाने वाले विशेष न्यायाधीश प्रमेंद्र कुमार ने जुर्माने का आधा पैसा पीड़ित बच्ची को देने को कहा है. आरोपी को सजा मिलने के बाद बच्चे के परिवार ने कहा कि न्यायालय उनको न्याय देगा पूरा भरोसा था.

साल 2018 में पीड़ित बच्ची के पिता अपने मुंह बोले रिश्तेदार के यहां उनकी बेटी को देखने गए थे. वहां पर पीड़ित बच्ची खेल रही थी. तभी रात को बच्ची अचानक से गायब हो गई. पीड़ित के पिता ने और अन्य सदस्यों ने बच्ची की खोजबीन किया. पर बच्ची कहीं नहीं मिली. इसके बाद पिता ने वहां मौजूद एक शख्स दीपू पर आरोप लगाया कि वह बच्ची के गायब होने के समय वहां मौजूद नहीं था. उसी ने बेटी को गायब किया है. गायब होने के दूसरे दिन ही पुलिस को बच्ची एक सुनसान इलाके में गंभीर अवस्था में मिली. इसके बाद बच्ची को 14 दिन अस्पताल में रखा गया. इसके बाद लड़की के पिता ने आरोपी के खिलाफ खंदौली थाना में मुकदमा दर्ज कराया था. पुलिस ने आरोपी दीपू के खिलाफ अपहरण और बलात्कार सहित पोक्सो एक्ट के तहत कार्रवाई की.

आगरा: नेशनल ताइक्वांडो खिलाड़ी की पुलिस करेगी मदद, नहीं बेचने पड़ेंगे मेडल

बच्ची से बलात्कार के मामले में पीड़ित बच्ची, उसके पिता मां डॉक्टर सहित करीब 12 लोगों की गवाही दर्ज कराई गई. गवाही के दौरान बच्ची जब आरोपी दीपू के सामने आई तो एकदम से वह डर गई. फिर भी उसने अहम गवाही दी. इसके इसके अलावा भी आरोपी के खिलाफ कई सबूत रखे गए. अंत में आरोपी को अपहरण के मामले में 7 वर्ष की सजा और 20 हजार रुपए जुर्माना. वही पोक्सो एक्ट के तहत आजीवन कारावास सहित 50 हजार रुपए का जुर्माना लगाया गया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें