आगरा में 5 साल की मासूम का रेप करने के आरोप में जेल, इलाके में तनाव, पीएसी तैनात

Smart News Team, Last updated: 04/09/2020 09:52 PM IST
  • आगरा के शहीद नगर में 5 वर्षीय बच्ची से बलात्कार करने के आरोप में आरोपी को पुलिस ने जेल भेज दिया गया है. घटना से इस इलाके में माहौल तनावपूर्ण है. हालात पर काबू पाने के लिए इलाके में पीएसी तैनात है. बच्ची को अस्पताल में भर्ती कराया गया था. अब उसकी हालत पहले से बेहतर है. 
आगरा के शहीद नगर इलाके में एक 5 वर्षीय बच्ची के साथ बलात्कार की घटना सामने आई है.

आगरा. शुक्रवार की शाम आगरा के शहीद नगर में 5 वर्षीय बच्ची के साथ बलात्कार का मामला सामने आया था. इस मामले में पुलिस ने आरोपी राहुल को जेल भेज दिया है. इस घटना से इलाके में माहौल तनावपूर्ण है. इसलिए हालात बिगड़ने की आशंका के मद्देनजर मौके पर पीएसी तैनात है.

बच्ची से बलात्कार की घटना के बाद कई राजनीतिक दलों के लोग पीड़िता के परिजनों से मिलने पहुंचे. उन्होंने परिजनों को उनके साथ अन्याय नहीं होने का भरोसा दिलाया.

आगरा के लापता हुए कारोबारी CCTV में दिखे, पुलिस ने शुरू की छानबीन

सीओ सदर महेश कुमार ने बताया कि आरोपी राहुल के खिलाफ मुकदमा दर्ज कराया गया था. आरोपी बच्ची से बलात्कार करने के बाद फरार हो गया था. पुलिस ने उसे गिरफ्तार करके जेल भेज दिया है. इसके अलावा बच्ची को उपचार के लिए अस्पताल में भर्ती कराया गया था. अब उसकी हालत पहले से बेहतर है.

आगरा: कमला नगर व्यापारी से लूट और हत्याकांड का खुलासा, चार गिरफ्तार

सीओ ने कहा कि यह घटना बहुत दुर्भाग्यपूर्ण है.आरोपी भी इसी इलाके का निवासी है. क्षेत्र के लोगों में उसकी इस हरकत से काफी गुस्सा है. इस आक्रोश के चलते आक्रोशित भीड़ आरोपी के घर धावा भी बोल सकती है. इसलिए हालात को काबू में रखने के लिए वहां पुलिस फोर्स तैनात किया गया है.

आगरा: बाइक सवार मां-बेटे की सांड़ से टक्कर, मां की मौके पर मौत,बेटा घायल

बच्ची के परिजनों की मांग है कि आरोपी को सख्त से सख्त सजा मिलनी चाहिए. परिजनों का कहना है कि बच्ची संयोग से बच गई है. यदि वह छत से भाग कर नहीं आती तो आरोपी उसकी हत्या भी कर सकता था.

आगरा: पड़ोसन ने ही लुटवा दी अस्मत, शादी के बहाने साथ ले गई और करवा दिया गैंगरेप

इसके अलावा क्षेत्र के लोगों ने यह तय किया है कि आरोपी को कभी यहां नहीं आने दिया जाएगा. पुलिस ने अभी तो उसे जेल भेज दिया हो मगर वह हमेशा जेल में नहीं रहेगा. इसलिए वह जब भी जमानत पर बाहर आएगा उसे उस समय मोहल्ले में नहीं आने दिया जाएगा. यदि उसने फिर भी आने का प्रयास किया तो उसके परिजनों को भी यह इलाका छोड़ कर जाना होगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें