आगरा में बच्चे की हत्या के बाद इलाके में तनाव, पुलिस और पीएसी तैनात

Smart News Team, Last updated: 12/09/2020 12:33 AM IST
  • आगरा के धौर्रा गांव में हुई मासूम की मौत के बाद इलाके में तनाव बढ़ गया है. बवाल की आशंका में पीएसी तैनात कर दी गई है. इसके साथ ही घर वालों के शक और सबूतों के आधार पर पुलिस पड़ोस में रहने वाले वाहिद से पूछताछ कर रही है.
उपदेश हत्याकांड मामले की जांच के लिए पहुंचे आईजी रेंज ए गणेश व अन्य पुलिस अधिकारी

आगरा: बीते आठ सितंबर को धौर्रा गांव में नौ साल के मासूम की मौत के बाद से तनाव बरकरार है. हत्याकांड से कहीं बवाल न हो इसलिए बेहद सतर्कता रखी जा रही है. गांव में पुलिस फोर्स के साथ चप्पे-चप्पे पर पीएसी भी तैनात कर दी गई है.एडीजी अजय आनंद, आईजी रेंज ए सतीश गणेश शुक्रवार को गांव धौर्रा पहुंचे. एसएसपी बबलू कुमार ने दोनों अधिकारियों को घटना स्थल दिखाया. शाम पुलिस के हाथ कुछ महत्वपूर्ण सुराग लगे. हिरासत में लिए एक युवक पर शक गहरा गया है साथ ही उससे पूछताछ जारी है.

गौरतलब है कि आठ सितंबर की दोपहर नौ वर्षीय उपदेश घर के बाहर से खेलते समय गायब हो गया था. जिसके बाद दस सितंबर की सुबह गांव में ही एक भूसे की कोठरी में उसका शव मिला. शव दो दिन पुराना था और जूते के फीते से उसका गला घोंटा गया था.  माना रहा है कि उसे आठ सितंबर की दोपहर में ही मार दिया गया था. घरवालों ने दूसरे समाज के दो युवकों पर शक जाहिर किया था. शव मिलने के बाद से ही गांव में माहौल गर्म हो गया था. भीड़ ने इंस्पेक्टर सलीम खान के खिलाफ नारेबाजी भी की थी. 

हत्याकांड से जुड़ी जगह की छानबीन करती पुलिस

शुक्रवार को एडीजी अजय आनंद और आईजी रेंज ए सतीश गणेश पीड़ित परिवार से मिले. एसएसपी बबलू कुमार खुद पूरे मामले को देख रहे हैं. गुरुवार की रात तीन बजे तक आधा दर्जन से अधिक पुलिस की टीमें गांव में ही मौजूद थीं. कई लोगों की गतिविधियों पर नजर रखी जा रही है. पुलिस ने घरवालों के शक जताने पर वाहिद और आयूब नाम के युवकों को हिरासत में लिया था. भाजपा सांसद एस पी सिंह बघेल, पूर्व विधायक डॉक्टर धर्मपाल सिंह व ब्लॉक प्रमुख खंदौली जगवीर सिंह तोमर ने भी शुक्रवार को गांव धौर्रा पहुंचे और पीड़ित परिवार से मिले.

उपदेश की मौत के मामले में ग्रामीणों से पूछताछ करती पुलिस

पुलिस ने पहले उपदेश के लापता होने पर अपहरण का मुकदमा लिखा था. गला दबाकर हत्या करने के बाद उसके शव को भूसे के ढेर में छिपाया गया था. इस जानकारी के बाद पुलिस ने मुकदमे में हत्या और साक्ष्य नष्ट करने की धारा बढ़ा दी है. पुलिस ने पहले अयूब से गहराई से पूछताछ की थी. उसके बाद वाहिद से पूछताछ की. वाहिद का घर अयूब के घर से पहले है.लाश को जिस कोठरी में छिपाया गया था वह अयूब के घर से ज्यादा पास है. इसलिए पुलिस को लगा कि कोई हत्या करके अपने घर के सामने लाश नहीं छिपाएगा. पुलिस अब वाहिद से पूछताछ कर रही है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें