आगरा

आगरा: 97 की उम्र में कोरोना को हराकर घर पहुंचे बुजुर्ग, डॉक्टरों ने बजाई ताली

Smart News Team, Last updated: 12/06/2020 05:54 PM IST
  • कोरोना जैसी गंभीर बीमारी को मात देकर 97 साल के बुजुर्ग मरीज जब असप्ताल से चले तो उनके सम्मान में डॉक्टरों और स्टाफ ने भी जमकर तालियां बजाई।
97 साल की उम्र में कोरोना को मात देना बाकी मरीजों के लिए आशा की नई किरण है। (प्रतीकात्मक फोटो)

आगरा. अगर इंसान में हिम्मत हो तो वह किसी भी उम्न में हर तरह की जंग जीतने की ताकत रखता है। ताजनगरी आगरा में एक 97 साल के पूर्व इंजीनियर ने कुछ ऐसा ही दिखाया जो हाल ही में कोरोना जैसी खतरनाक बीमारी को मात देकर अपने घर लौट गए। उनके सम्मान में डॉक्टर और असप्ताल स्टाफ भी ताली बजाने के लिए मजबूर हो गया।

जानकारी के अनुसार, राजधानी के गांधी नगर निवासी पूर्व इं. जीसी गुप्ता को बुखार और यूरिन इंफेक्शन की शिकायत थी। अधिक दिक्कत होने पर परिवार के लोगों ने उन्हें एमजी रोड स्थित अस्पताल में भर्ती कराया था। अस्पताल में टेस्ट होने पर कोरोना होने की जानकारी लगी। 29 मई को उनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आई थी। इस पर उन्हें एल-टू श्रेणी के नयति हास्पिटल के आइसोलेशन वार्ड में भर्ती कराया गया था।

अस्पताल प्रबंधन के अनुसार, बुजुर्ग इंजीनियर को अस्पताल में 12 दिन हाई आक्सीजन फ्लो पर रखा गया। बुधवार रात 12 दिन पूरे करने और रिपोर्ट नेगिटिव आने के बाद उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया। इस संबंध में जिलाधिकारी प्रभु एन सिंह ने कहा कि जीसी गुप्ता कोरोना मरीजों के लिए यह आशा की एक नई किरण है।

आगरा में होगा कोरोना विस्फोट? अगस्त तक 27000 पहुंच सकता है मरीजों का आंकड़ा

बता दें कि जीसी गुप्ता को 12 दिन के इलाज के बाद ही अस्पताल से छुट्टी दे दी गई। संभवत: वे कोरोना की चपेट में आने वाले राज्य के सबसे अधिक उम्र के मरीज बताए जा रहे हैं। डीएम के अनुसार, जिले में इतनी उम्र में ठीक होने वाले जीसी गुप्ता पहले मरीज हैं। उनकी अस्पताल में अच्छी देखभाल की गई।

अन्य खबरें