लॉकडाउन का पर्यावरण पर असर, देश में पांचवें नंबर पर है आगरा की ताजी हवा

Smart News Team, Last updated: Sun, 30th May 2021, 3:42 PM IST
  • आगरा में लॉकडाउन की वजह से पर्यावरण पर अच्छा असर हुआ है. जिला की साफ हवा देश में पांचवे नंबर पर टिका है. 
आगरा की साफ हवा 

देश में कोरोना की वजह से हुए लॉकडाउन का एक सकारात्मक पहलू भी देखा जा सकता है. आगरा में साफ और ताजी हवा बह रही है. केंद्रीय प्रदूषण नियंत्रण रिपोर्ट की आंकड़ो के अनुसार जिला की ताजगी भरी साफ हवा की वजह सेआगरा देश में  पाचवें नंबर पर आ गया है.  

सीबीसीबी की रिपोर्ट के अनुसार आगरा में हवा की गुणवत्ता सूचकांक 33 बताया जा रहा है. इस वजह से देश में आगरा को पांचवा स्थान मिला है. वहीं राज्य की बात करें तो आगरा कम प्रदूषण वाला दूसरा शहर है. मई की रिपोर्ट की बात करें तो 22 तारीक को हवा की गुणवत्ता सूचकांक 44 दर्ज किया गया था जो कि इस समय के आंकड़े से ज्यादा है. लेकिन कुछ समय बाद ही शहर के मौसम में बदलाव देखा गया. 

सप्ताह भर ऊपर नीचे होती रही लखनऊ सर्राफा बाजार की कीमत

शनिवार को जिला के हवा में नाइट्रोजन ऑक्साइड की न्यूनतम मात्रा 4 औसत 7 अधिकतम 15 पाया गया है. वहीं ओजोन की बात करें तो न्यूनतम 17 औसत 18 अधिकतम 20 बताया जा रहा है. पीएम(2.5) का आंकड़ा देखा जाए तो न्यूनतम 12 औसत 32 अधिकतम 75 दर्ज किया गया है.

कोविन पोर्टल पर रजिस्ट्रेशन शुरू, कर सकेंगे समय, तारीख और अस्पताल का चयन

कोरोना को बढ़ते मामले को देखते हुए देश में लॉकडाउन लगा दिया गया था जिसकी वजह बाहनों का चलना ना के बराबर हो गया. फैक्ट्रियों में काम-काज रोक दिया गया जिसकी वजह से उससे निकलने वाला हानिकारक धुआं भी वातावरण में नहीं फैला. इससे वातावरण को खुद के उपचार का थोड़ा सा वक्त मिल गया था.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें