किसानों को पार्टी से जोड़ने की कवायद तेज, आगरा में BJP किसान मोर्चा की आज ट्रैक्टर रैली

Somya Sri, Last updated: Fri, 26th Nov 2021, 1:31 PM IST
  • किसानों के बीच अपनी बात रखने के लिए आज आगरा में बीजेपी किसान मोर्चा की ओर से ट्रैक्टर रैली निकाली गई है. आज कोठी मीना बाजार मैदान रैली से जल्द शुरू होगी. फिर दिवानी न्यायालय चौराहे पर स्थित पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण के बाद रैली का समापन किया जाएगा. इससे पहले 19 नवंबर बीजेपी किसान मोर्चा की ओर से मथुरा में ट्रैक्टर ट्राली कार्यक्रम का आगाज किया गया था.
किसानों को पार्टी से जोड़ने की कवायद तेज, आगरा में BJP किसान मोर्चा की आज ट्रैक्टर रैली

आगरा: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा किसान कानूनों की वापसी का ऐलान करने के बाद भारतीय जनता पार्टी किसान मोर्चा अब किसानों को साधने की कोशिश में लगी हुई है. यही कारण है कि बीजेपी किसान मोर्चा देशभर में ट्रैक्टर रैली का आयोजन कर रही है. 19 नवंबर को मथुरा से ट्रैक्टर ट्राली कार्यक्रम का आगाज किया गया था. अब खबर है कि आज आगरा में किसानों के बीच अपनी बात रखने के लिए बीजेपी किसान मोर्चा की ओर से ट्रैक्टर रैली निकाली गई है.

पार्टी से किसानों को जोड़ने के लिए रैलियों का आयोजन

जानकारी के मुताबिक आज कोठी मीना बाजार मैदान रैली से जल्द शुरू होगी. फिर दिवानी न्यायालय चौराहे पर स्थित पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह की प्रतिमा पर माल्यार्पण के बाद रैली का समापन किया जाएगा. मालूम हो कि इन रैलियों का आयोजन अब तक कृषि कानूनों को लेकर चल रहे किसानों के आंदोलन का राजनीति जवाब देना था. लेकिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा कृषि कानूनों की वापसी के ऐलान के बाद अब इन रैलियों का स्वरूप ही बदल गया है. अब इन रैलियों की मदद से किसानों को पार्टी से जोड़ने के लिए ताकत दिखाई जा रही है. अब किसानों के बीच अपनी बात रखने के लिए इन रैलियों का आयोजन किया जा रहा है.

ताज महल की खूबसूरती के साथ होगा रंग बदलने वाली प्लेट का दीदार, दर्शकों के लिए खुला म्यूजिय

पीएम मोदी ने कृषि कानूनों की वापसी का किया था ऐलान

मालूम हो कि गुरु पूर्णिमा के मौके पर कृषि कानूनों को लेकर पीएम मोदी ने देश को संबोधित करते हुए कहा कि उनकी सरकार ने तीन कृषि कानूनों के फायदे किसानों के एक वर्ग को समझाने की बहुत कोशिश की लेकिन वो नाकाम रहे. उन्होंने कहा कि इन तीनों कानूनों से छोटे किसान मजबूत होते. पीएम मोदी ने कहा कि इसके लिए संसद के आगामी सत्र में विधेयक लाकर इन तीनों कानूनों को रद्द किया जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें