आगरा: कोरोना मरीज को होम आइसोलेशन में देने होंगे 10 दिन के 6 हजार

Smart News Team, Last updated: 02/08/2020 10:20 PM IST
  • आगरा में बिना लक्षण वाले कोरोना संक्रमित मरीजों को होम आइसोलेशन में भेजा जा रहा है. इसके लिए मरीजों को पंजीकरण करवाना होगा. मरीजों को इसके लिए इंडियन मेडिकल एसोसिएशन के खाते में 6 हजार रुपए जमा करवाने होंगे.
आगरा: कोरोना मरीज को होम आइसोलेशन में देने होंगे 10 दिन के 6 हजार

आगरा में कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. ऐसे में बिना लक्षण वाले मरीजों को होम आइसोलेशन में भेजा जा रहा है. होम आइसोलेशन में जाने वाले मरीजों को इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (आईएमए) के खाते में 6000 रुपए जमा करवाने होंगे. होम आइसोलेशन के लिए गाइडलाइन जारी की है. गाइडलाइन के मुताबिक बिना लक्षण वाले कोरोना मरीजों को अलग कमरा और शौचालय होने पर ही आईएमए उसे होम आइसोलेशन के लिए चिकित्सकीय सुविधा देगा. इसके लिए प्रतिदिन 600 रुपये शुल्क तय किया है.

होम आइसोलेशन के लिए 10 दिन तय किए गए हैं. इसके लिए मरीज को 10 दिन की फीस 6000 रुपये आईएमए के बैंक एकाउंट में जमा कराने होंगे. मरीज के घर आईएमए की टीम भौतिक निरीक्षण करेगी. शौचालय और अलग कमरे की व्यवस्था पर मरीज और एक परिजन को सावधानी और कैसे देखभाल करनी है, इसकी जानकारी देगी.

आगरा: कोरोना से मौत का आंकड़ा 100 पार, जुकाम-खांसी OPD में सबसे ज्यादा संक्रमित

बता दें कि होम आइसोलेशन में भर्ती आठ मरीजों को बुखार और सांस की तकलीफ होने पर अस्पतालों में शिफ्ट किया जा चुका है. जिलाधिकारी प्रभु एन सिंह ने कहा कि लक्षण आने पर ही मरीजों को कोविड अस्पतालों में भर्ती किया जाता है.

अस्पताल में नहीं रहना चाहते कोरोना मरीज, होम आइसोलेशन को लग रही बंपर सिफारिशें

घरों में उपचार ले रहे संक्रमितों का हालचाल चिकित्सक फोन पर ले रहे हैं. कंट्रोल रूम से सुबह और शाम इन्हें फोन कर हालत पूछी जाती है. स्वास्थ्य विभाग ने दवाएं, चेकअप किट व ट्रीटमेंट चार्ट मरीजों को समझा रखे हैं. संक्रमितों के घरों पर कोई पहरा नहीं है. डीएम ने बताया कि कंट्रोल रूम के अलावा एक टीम पांच मरीजों के घर जाकर उन्हें चेक करती रहती है.

अन्य खबरें