कोरोना काल में अंधी लूट, 10 गुना ज्यादा एम्बुलेंस का किराया, जरा सी दूर के 15000

Smart News Team, Last updated: 27/07/2020 09:38 PM IST
  • आगरा में अवैध एंबुलेंस का धंधा किया जा रहा है. कोविड मरीज को शिफ्ट करने के लिए पांच किलोमीटर के 15 हजार रुपए वसूले. वैध एंबुलेंस के केवल 1500 रुपये लिए जाते हैं.
(प्रतिकात्मक फोटो)

कोरोना काल में आगरा में अवैध एंबुलेंस का धंधा जोर पकड़ गया है. इन एंबुलेंस को इस्तेमाल करने वालों को जमकर लूटा जा रहा है. सोमवार को एक एंबुलेंस ने कोविड मरीज को शिफ्ट करने के लिए 15 हजार रुपये वसूल लिए. ये केवल पांच किलोमीटर के लिए वसूले गए. इस पर मरीज के परिजनों और एंबुलेंस चालक में बहस हुई. 

आगरा: मनरेगा के बाद अब पंचायत भवन बनेंगे गरीब प्रवासी मजदूरों के पालनहार

आगरा में ऑक्सीजन युक्त वैध एंबुलेंस किसी को शिफ्ट करने के अधिकतम 1500 रुपये लेती है. वहीं अवैध एंबुलेंस चालक अपनी मर्जी से कोई भी रकम मांगते हैं. इनका साथ अस्पताल वाले भी देते हैं. ऐसे में चालक से बहस होने के बाद भी मरीज के परिजनों को 15000 रुपए का भुगतान करना पड़ा क्योंकि अस्पताल, एंबुलेंस चालक के पक्ष में था. 

कोरोना काल में बकरीद पर कम कुर्बानी की वजह से मदरसों पर आएगा संकट

सोमवार को भगवान टॉकीज के पास स्थित एक अस्पताल से कोविड मरीज को सिकंदरा के अस्पताल में शिफ्ट किया जाना था. अस्पताल संचालक ने इसके लिए अपनी जुगाड़ वाली एंबुलेंस बुलाई. मरीज को सिकंदरा के अस्पताल में शिफ्ट किया गया. इसके एवज में चालक ने 15 हजार रुपये मांगे. मरीज के परिजनों और चालक में इस पर बहस भी हुई. 

कोरोना काल में बहनों को तोहफा, रक्षाबंधन के दिन आगरा के सभी रूटों पर चलेगी बस

बता दें कि वैध एंबुलेंस में कम पैसों में भी अच्छी सुविधा दी जाती है. इसमें ऑक्सीजन सुविधा के साथ ड्राइवर और पैरा मेडिकल स्टाफ पीपीई किट के साथ मौजूद रहते हैं. साथ ही मरीज लेने से पहले एंबुलेंस को सेनेटाइज किया जाता है. मरीज को अस्पताल में भर्ती कराने के बाद भी एंबुलेंस का सेनेटाइजेशन होता है. 

मिनी लॉकडाउन में ड्यूटी पर तैनात संविदाकर्मियों का पुलिस ने किया चालान, विवाद

वहीं अवैध एंबुलेंस दूसरे जिलों की हैं जो यहां चलाई जा रही हैं. यहां तक की राजस्थान की तमाम एंबुलेंस आगरा से मरीजों को बाहर शिफ्ट कर रही हैं. एंबुलेंस एसोसिएशन ने जिला प्रशासन के साथ आरटीओ को कई बार लिखित में शिकायत की है लेकिन अभी तक इस मामले में कुछ भी नहीं हुआ है.

अन्य खबरें