आगरा

और खतरनाक हुआ कोरोना, आगरा में महज 27 दिन में दोगुने से अधिक मौतें, आंकड़े भयावह

Smart News Team, Last updated: 27/06/2020 05:31 PM IST
  • आगरा में कोरोना वायरस से मौत के आंकड़ें डराने वाले हैं।आगरा में 27 दिनों में दोगुने से ज्यादा लोगों की कोरोना से मौतें होने से अफरातफरी का माहौल है।
आगरा में कोरोना वायरस से मौत का आंकड़ा भयावह होता जा रहा है।

आगरा में कोरोना वायरस से मौत के आंकड़ें डराने वाले हैं।आगरा में 27 दिनों में दोगुने से ज्यादा लोगों की कोरोना से मौतें होने से अफरातफरी का माहौल है। अब तक 85 लोगों की मौत हो चुकी है। जबकि 1184 लोग संक्रमित हो चुके हैं। मई माह तक 42 लोगों की मौत हुई। वहीं जून माह में 27 दिनों में 43 लोगों की मौत हो चुकी है। इधर, घट रहे संक्रमितों और मौतों के बढ़ते आंकड़ों पर सवाल उठने लगे हैं। इसको लेकर पिछले दिनों खूब सियासत भी हुई थी। अब प्रशासन गंभीर होकर इसको नियंत्रित करने में लगा हुआ है।

मार्च महीने कि बात करें तो 968 लोगों की सैंपलिंग में 12 लोग संक्रमित पाए गए थे। इनमें किसी की भी मौत नहीं हुई। मौतें होने का सिलसिला अप्रैल के महीने से शुरू हुआ। अप्रैल के महीने में 5200 लोगों के सैंपल लिए गए। इनमें से 443 लोग पॉजिटिव पाए गए। जबकि 14 लोगों की मौत हो गई। मई माह में 7032 लोगों के लिए गए सैंपल में से 455 लोग संक्रमित पाए गए। जबकि 28 लोगों की मौत हो गई। जून माह में सैंपलिंग तो बढ़ी, लेकिन संक्रमितों की संख्या अप्रैल माह की अपेक्षा लगभग आधी रह गई। वहीं मौतों की संख्या मार्च और अप्रैल माह में हुईं मौतों से भी ऊपर निकल गई। जबकि अभी तीन दिन शेष हैं।

पिछले दिनों मौतों को लेकर खूब सियासत भी हुई थी। मामला शासन स्तर तक पहुंचा था। उसके बाद इसको रोकने की कवायद भी होने लगी। गंभीर मरीजों के इलाज को लेकर एसएनएमसी में रोज डाक्टरों के एक पैनल द्वारा मंथन होने लगा। जिलाधिकारी ने कोविड हॉस्पिटल की व्यवस्थाओं पर स्वयं नजर रखने के लिए वहां के सीसीटीवी को अपने मोबाइल से लिंक कर लिया। जिससे पता लगता रहे कि वहां क्या चल रहा है। ड्यूटी पर मेडिकल स्टाफ कितना मुस्तैद है।

उसके बाद भी सवाल इसको लेकर भी उठ रहे हैं कि जून माह में सैंपलिंग भी अन्य महीनों की अपेक्षा ज्यादा हुई। संक्रमित कम मिले, जबकि मौतों आंकड़ा दो माह में हुईं मौतों से; भी एक माह में ही दो गुने को पार कर गया। इसको लेकर नोडल अधिकारी द्वारा 28 मृतकों की रिपोर्ट का आडिट भी कराया गया। उसमें कहीं इलाज में तो कहीं मरीजों के परिजनों की लापरवाही भी सामने आई। अब इसको दूर करने के लिए प्रशासन के अलावा स्वास्थ्य विभाग की टीमें अलग से भी काम कर रहीं हैं।

ये हैं कोरोना के आंकड़े

माह          सैंपलिंग        संक्रमित       मौत

मार्च             968          12 कोई          नहीं

अप्रैल         5200          443                14

मई             7032         455                 28

जून(27)       7410       274                43

 

 

अन्य खबरें