आगरा

आगरा में कोरोना का कोहराम, फिर भी विदेश से आकर खुले घूम रहे कोविड-19 संदिग्ध

Smart News Team, Last updated: 25/06/2020 04:35 PM IST
  • आगरा में कोरोना वायरस कहर ढा रहा है, मगर अब भी यहां इसे लेकर जरा भी लोग सजग नहीं दिख रहे हैं। ताजनगरी में विदेश से आने के बाद कई संदिग्ध खुले में घूम रहे हैं।
एयरपोर्ट से दूसरे शहरों की रवानगी के लिए आए यात्रियों का सामान दो बार सेनेटाइज किया गया।

आगरा में कोरोना वायरस कहर ढा रहा है, मगर अब भी यहां इसे लेकर जरा भी लोग सजग नहीं दिख रहे हैं। ताजनगरी में विदेश से आने के बाद कई संदिग्ध खुले में घूम रहे हैं। इनसे कभी भी संक्रमण फैल सकता है। नियमानुसार सात दिन होटल में क्वारंटाइन रहने के बाद रिपोर्ट निगेटिव होने पर घर भेजा जाता है। बावजूद इसके कुछ लोग एयरपोर्ट से सीधे सीएमओ कार्यालय पहुंचकर घर जाने की बात कहते हैं। जब अनुमति नहीं मिलती तो होटल में क्वारंटाइन होते हैं। सवाल ये भी खड़ा होता है कि इन लोगों को सरकारी दफ्तरों तक पहुंचने की इजाजत कहां से मिल गई। इनको सीधे होटल में क्वारंटान करने की व्यवस्था क्यों नहीं की गई।

कोरोना लॉकडाउन की वजह से विदेशों में फंसे लोगों को अब अपने देश आने की अनुमति मिल गई है। ये लोग धीरे-धीरे यहां आने लगे हैं। एयरपोर्ट पर थर्मल स्क्रीनिंग होने के बाद ये लोग टैक्सी लेकर आगरा आ रहे हैं। इनको होटल में क्वारंटाइन कराने के लिए प्रशासन ने होटल पीएल पैलेस और होटल अमर में व्यवस्था की है। यहां इन लोगों को सात दिन रहने के बाद टेस्ट कराना है। टेस्ट रिपोर्ट आने पर सात दिनों के लिए होम क्वारंटाइन के लिए भेज दिया जाता है। ये लोग प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग के रडार पर रहते हैं। अभी तक दो दर्जन से ज्यादा लोग विभिन्न देशों से यहां आ चुके हैं। इनमें से आधे से ज्यादा की रिपोर्ट निगेटिव आने पर इन्हें होम क्वारंटाइन में भेज दिया गया।

विदेश से आने वाले कुछ लोग सीधे सीएमओ के पास पहुंच जाते हैं। इनके द्वारा अपनी परेशानियों को बताकर होम क्वारंटाइन होने का अनुरोध किया जाता है। कोई अपने घर में मौत हो जाने के बाद अन्य संस्कार करने कि बात कहता है तो कई अपने परिजन की बीमार होने की बात कहता है। इधर, सीएमओ द्वारा उनको कोविड प्रोटोकाल का हवाल‌ा देते हुए होटल में ही सात दिन तक क्वारंटाइन रहने के लिए भेज दिया जाता है।

एडीएम सिटी डॉ. प्रभाकांत अवस्थी ने कहा कि एयरपोर्ट पर आने के बाद गौतमबुद्ध नगर में तैनात अधिकारियों द्वारा एडीएम प्रोटोकाल को सूचना दे दी जाती है। उन्हें फोन कर ट्रेस कर लिया जाता है। यदि कोई घर चला गया तो उसे वहां से बुलाकर होटल में क्वारंटाइन कराया जाता है। विदेश से आने के बाद सात दिन होटल में ही अपने खर्चे पर रहना है। बाहर घूमने वालों पर सख्त कार्रवाई की जाएगी।

अन्य खबरें