आगरा

आगरा न्यूज: दीपक चाहर बोले- गेंद पर लार नहीं लगाई तो फिर नहीं होगी स्विंग

Smart News Team, Last updated: 14/06/2020 02:31 PM IST
  • क्रिकेट की सर्वोच्च संस्था आईसीसी द्वारा गेंद को चमकाने के लिए लार लगाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है, जिसके बाद से से बॉलर चिंतित हैं। आगरा के अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेटर दीपक भी समझ नहीं पा रहे हैं कि अब गेंद को स्विंग या स्पिन कराने के लिए उन्हें क्या करना होगा।
दीपक चाहर (फाइल फोटो)

कोरोना वायरस संकट ने हर गतिविधि को बाधिक कर रखा है और इससे क्रिकेट भी अछूता नहीं है। कोविड-19 संकट की वजह से क्रिकेट भी नहीं हो रहे हैं और इसने क्रिकेट के भी कई चीजों में बदलाव लाने को मजबू कर दिया है। यही वजह है कि क्रिकेट की सर्वोच्च संस्था आईसीसी द्वारा गेंद को चमकाने के लिए लार लगाने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है, जिसके बाद से से बॉलर चिंतित हैं। आगरा के अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेटर दीपक भी समझ नहीं पा रहे हैं कि अब गेंद को स्विंग या स्पिन कराने के लिए उन्हें क्या करना होगा। गेंद को लार से चमकाने के बाद मिलने वाली मदद बंद होने से उन्हें नए विकल्प की दरकार है। मगर अभी कोई विकल्प आईसीसी ने नहीं सुझाया है।

भारतीय क्रिकेटर दीपक चाहर तेज गेंदबाज हैं। जब से क्रिकेट खेलना शुरू किया है दीपक को स्विंग के लिए गेंद पर लार लगाने की आदत है। अब अचानक लार पर प्रतिबंध से दीपक भी पेशोपेश में हैं। हिन्दुस्तान से खास बातचीत में दीपक ने कहा कि सफेद गेंद की क्रिकेट में ज्यादा फर्क नहीं पड़ेगा। ऑस्ट्रेलिया में बनीं सफेद कुकबुरा गेंद में लार न लगाने पर भी थोड़ी मेहनत से स्विंग मिल जाएगा। मगर एसजी की लाल गेंद पर लार नहीं लगाया तो गेंद बिल्कुल भी स्विंग नहीं होगी। टेस्ट व रणजी ट्राफी में लाल गेंद 80 ओवर बाद ही बदलती है। लार लगाने की अनुमति न मिलने से दिवसीय क्रिकेट बल्लेबाजों का होकर रह जाएगा। बिना स्विंग के तेज गेंदबाज बहुत मार खाएंगे।

नियम बदलने होंगे

दीपक ने कहा कि तेज गेंदबाजों के साथ-साथ स्पिनरों को भी हवा में स्विंग के लिए गेंद पर लार लगानी पड़ती है। ऐसा न करने पर उन्हें गेंद को ड्रिफ्ट करने में मदद नहीं मिलेगी और बॉल ज्यादा नहीं घूमेगा। इसका फायदा बल्लेबाज को मिलेगा। दीपक कहते हैं कि आईसीसी को लार की जगह कोई विकल्प देना चाहिए। टेस्ट व रणजी में 80 ओवर के बजाए काफी पहले नई गेंद का विकल्प भी इसमें शामिल है। दीपक कहते हैं कि फिलहाल क्रिकेट बंद है। जब शुरू होगी तो उम्मीद है कि गेंदबाजों के हित के लिए कोई न कोई विकल्प जरूर आ जाएगा।

अन्य खबरें