डॉ दीप्ति की हालत गंभीर, पुलिस के हाथ लगे सुसाइड नोट में बेटी का जिक्र

Smart News Team, Last updated: 04/08/2020 08:48 PM IST
  • आगरा के ताजगंज निवासी डॉ दीप्ति अग्रवाल ने सोमवार शाम आत्महत्या की कोशिश की. उनकी हालत अभी भी गंभीर बताई जा रही है. उन्हें फरीदाबाद रेफर कर दिया है. पुलिस ने उनका फ्लैट खुलवाकर जांच शुरू की तो एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है.
सुसाइड नोट में डॉ दीप्ति ने पति से गुजारिश की कि बेटी का ध्यान रखें और पति के लिए कहा कि उनसे बहुत प्यार करती हैं और जो कर रही हैं पता है कि वो गलत है.

आगरा के ताजगंज में रहने वाली डॉ दीप्ति अग्रवाल ने सोमवार शाम को फांसी लगाकर खुदकुशी का प्रयास किया था. उनकी हालत गंभीर बनी हुई है और डॉक्टरों ने उन्हें फरीदाबाद रेफर कर दिया है. वहीं पुलिस ने भी विभव नगर स्थित वैली व्यू अपार्टमेंट में उनके फ्लैट की छानबीन की. जांच के लिए फोरेंसिक टीम को बुलाया गया. पुलिस को मौके से सुसाइड नोट भी मिला है. ये नोट दीप्ति ने पति डॉ सुमित अग्रवाल के नाम लिखा है.

डॉ दीप्ति ने सुसाइड नोट में अपनी बेटी का ख्याल रखने के लिए पति से बार-बार गुजारिश की है. उन्होंने लिखा, मैं अपनी जिंदगी से हार गई. न कुछ कर पाई न कर पाऊंगी. माफ कर दीजिएगा आप सुमित. सुनिए इनाया का मेरी ख्याल रखिएगा. आपके मम्मी पापा से भी माफी मांगती हूं. हो सके तो माफ कर देना. शायद मैंने देरी कर दी. क्रिशिव के साथ चले जाना चाहिए था. मेरे मरने के बाद मेरा सब कुछ इनाया का. बस ये ही गुजारिश करूंगी डॉक्टर साहब. इनाया का ख्याल रखना और प्लीज इनाया के लिए किसी की बातों में मत आना. पता है जो करने जा रही हूं वह ठीक नहीं. बहुत प्यार करती हूं आपसे, इसलिए अलग होने से भी डरती हूं. इसलिए जान देना ही ठीक रहेगा. कोसी वाले मम्मी पापा से भी कहना अपना ख्याल रखें. बस आप मेरी इनाया का ख्याल रखना.

आगरा: महिला डॉक्टर ने की आत्महत्या की कोशिश, फंदे पर मिली लटकी, हालात गंभीर

डॉ दीप्ति ने सुसाइड नोट में एक क्रिशिव नाम लिखा है. पुलिस पता लगा रही है कि ये शख्स कौन है और इसका दीप्ति की आत्महत्या की कोशिश के पीछे क्या हाथ है. हालांकि सुसाइड नोट से साफ नहीं हो पाया है कि दीप्ति ने ऐसा क्यों किया. पुलिस इसमें उनके पति से पूछताछ कर सकती है. 

OLX पर जाओ और ठगी का शिकार हो जाओ, आगरा साइबर सेल का ऑनलाइन फ्रॉड का पर्दाफाश

मंगलवार को पुलिस ने फ्लैट खुलवाकर जांच की. कमरे में चुन्नी पंखे से बंधी थी. पुलिस ने उसे भी कब्जे में लिया. पलंग से पंखे की ऊंचाई देखी गई. कमरे को सील कर दिया गया है. सुसाइड नोट में या दीप्ति के माता-पिता ने किसी पर भी आरोप नहीं लगाया है.

 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें