डॉ दीप्ति के पिता बोले- ससुराल वाले मौत के जिम्मेदार, दहेज को लेकर करते थे तंग

Smart News Team, Last updated: 06/08/2020 07:27 PM IST
आगरा के वरिष्ठ हृदय रोग विशेषज्ञ एससी अग्रवाल के परिवार पर बहू दीप्ति को दहेज के लिए प्रताड़ित करने का आरोप लगा. 3 अगस्त को दीप्ति ने आत्महत्या करने की कोशिश की थी.
डॉ दीप्ति अग्रवाल ने 3 अगस्त को आत्महत्या की कोशिश की थी.

डॉ दीप्ति के पिता ने आरोप लगाया है कि उनकी बेटी को ससुराल वालों ने षडयंत्र से मारा है. पिता का आरोप है कि ससुराल के लोग बार-बार दहेज के लिए मांग करते थे और दीप्ति को प्रताड़ित किया करते थे. दीप्ति के पिता ने पति के साथ सास, ससुर, जेठ और जेठानी पर योजनाबद्ध तरह से उनकी बेटी को मारने का आरोप लगाया है. वहीं गुरुवार को दीप्ति की फरीदाबाद के अस्पताल में मौत हो गई थी.

आर्यनगर स्थित मंगला अस्पताल के संचालक डॉ नरेश मंगला ने अपनी बेटी डॉ दीप्ति मंगला की शादी 3 नंवबर 2014 को आगरा के प्रसिद्ध हृदय रोग विशेषज्ञ डॉ सुभाष अग्रवाल के बेटे डॉ सुमित अग्रवाल से की थी.  

बोर्ड परीक्षा फार्म और शुल्क जमा करने की 31 अगस्त आखिरी तारीख, स्कूलों को राहत

दीप्ति के पिता ने शादी में डेढ़ करोड़ रूपए खर्च किए थे. आरोप है कि इसके बाद भी ससुराल के लोग दीप्ति को दहेज के लिए प्रताड़ित करते थे. पिता को इस बात का पता लगा तो उन्होनें कई बार चेक से अतिरिक्त लाखों रूपए दिए. 

सरकारी दफ्तरों में तेजी से फैल रहा कोरोना, दहशत में अधिकारी-कर्मचारी

जानकारी के लिए बता दें कि 3 अगस्त को दीप्ति विभव नगर स्थित वैली व्यू अपार्टमेंट में फांसी के फंदे पर लटकी हुई मिली. जिसके बाद पति ने अपने ही अस्पताल में उसे भर्ती कर दिया. पिता नरेश को जब यह बात पता चली तो वह दीप्ति को फरीदाबाद के सर्वोदय अस्पताल में ले आए. पुलिस को जांच में फ्लैट से सुसाइड नोट भी मिला है. मृतका के पिता ने बताया कि ससुराल वालों ने उन्हें भरा-बुला कहते हुए उनकी बेटी को अंजाम भुगतने की चेतावनी दी थी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें