आगरा: अयोध्या राम मंदिर भूमि पूजन के बाद से लोगों को आ रहे भड़काऊ फोन

Smart News Team, Last updated: 10/08/2020 08:43 AM IST
  • इंटरनेट के जरिए आगरा के लोगों को भड़काऊ फोन कॉल आ रही हैं. अयोध्या में राम मंदिर भूमि पूजन होने के बाद से ये कॉल आ रही हैं. इन कॉल को इंटरनेट के जरिए अपनी पहचान छिपाने के लिए किया जा रहा है.
आगरा: अयोध्या राम मंदिर भूमि पूजन के बाद से लोगों को आ रहे भड़काऊ फोन

अयोध्या में 5 अगस्त को राम मंदिर निर्माण के लिए भूमि पूजन किया गया. इसी के चार दिन बाद आगरा में लोगों के पास भड़काऊ फोन आने शुरू हि गए हैं. यहां तक की आगरा के पुलिसकर्मियों को भी कॉल आ रहा है. ये फोन कॉल इंटरनेट के जरिए किए जा रहे हैं ताकि पहचान छिपाई जा सके. इंटरनेट के जरिए फोन करने से पता नहीं चलता है कि फोन कहां से किया जा रहा है. दरअसल, एक व्यक्ति ने ये कॉल रिकार्ड कर ली थी. इसकी ऑडियो क्लिप भी वायरल हो रही है. खुफिया एजेंसियां इसकी जांच में जुट गई हैं.

आगरा प्रशासन का कहना है कि इन फोन कॉल्स की जांच की जा रही है. उन्होंने कहा कि 15 अगस्त निकट है, इसलिए सतर्कता बरती जा रही है. इंटरनेट के जरिए आ रही इस कॉल का नंबर हर बार बदलता है. हालांकि शुरुआत में इसमें प्लस वन होता है. कॉल में मंदिर निर्माण को लेकर पीएम नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा जा रहा है और मुसलमानों के लिए अलग देश की मांग की बात कही जा रही है. कॉलर कहता है कि 15 अगस्त को नरेंद्र मोदी को परचम फहराने से रोकना होगा. 

बर्बादी की कगार पर आगरा का बूट उद्योग, काम 250 करोड़ से पहुंचा 20 करोड़ रुपए

जांच में जुटी खुफिया एजेंसी का कहना है कि इस तरह की कॉल बड़ी संख्या में लोगों के पास आई हैं. ये केवल माहौल खराब करने के लिए किया जा रहा है. ये कॉल केवल आम लोगों के मोबाइल नंबरों पर ही नहीं बल्कि अधिकारियों और थाना प्रभारियों के सीयूजी नंबर पर भी आ रहीं हैं. खुफिया एजेंसी इस कॉल करने वाले का आईपी ढूंढने में लगी हैं.

आगरा: सिर्फ पांच रुपये की वजह से नहीं मिल पा रही बच्चों की मिड-डे मील की राशि

इन कॉल पर एसएसपी बबलू कुमार ने कहा कि लोगों के मोबाइल पर इस तरह की एक कॉल आने की जानकारी मिली है. आगरा के लोग समझदार हैं. लोगों के भड़काने में नहीं आते. फिर भी सतर्क रहने की जरूरत है. यह किसी अराजक तत्व की हरकत है. कॉल के बारे में पता करने के लिए साइबर सेल की टीम जुटी हुई है. स्वतंत्रता दिवस निकट होने के चलते पहले से सतर्कता बढ़ा दी गई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें