आगरा

चोर को पकड़ने को पुलिसकर्मी ने 3 दिन चलाया रिक्शा, ऐसे पकड़ा रंगे हाथ

Smart News Team, Last updated: 01/08/2020 09:38 AM IST
  • आगरा में एक चोर को पकड़ने के लिए पुलिसकर्मी ने फिल्मी स्टाइल में भेस बदलकर 3 दिन तक रिक्शा चलाया. पुलिसकर्मी ने जेबकाटने वाले गिरोह के चोर को रंगे हाथ पकड़ लिया.
चोरी में शामिल पार्षद समेत तीन आरोपियों को पुलिस ने जेल भेज दिया है।

आगरा में ऑटो और ई रिक्शा में जेबकाटने वाले गिरोह के एक बदमाश को पकड़ा गया. इसे पकड़ने के लिए थाना हरीपर्वत के पुलिसकर्मियों ने पूरी प्लानिंग की और एक सिपाही को तीन दिन ई रिक्शा चलाना पड़ा. पुलिसकर्मी ने तीन दिन तक ई -रिक्शा चलाकर चोर को रंगे हाथों परड़ा. ऐसा तब हुआ जब पुलिसकर्मी की रिक्शा में बैठकर जेब कतरे शंकर ने दूसरी सवारी एक बुजुर्ग की जेब काटी. पुलिसकर्मी को उसपर शक हुआ और उसे गिरफ्तार कर लिया.

दरअसल, लंबे समय से हरीपर्वत पुलिस थाने एमजी रोड में शिकायतें आ रही थीं कि ऑटो और ई-रिक्शा में उनकी जेबकट गई. शिकायतों की संख्या ज्यादा होने से पुलिस को अंदाजा था कि ये एक शख्स नहीं पूरी गैंग है. पुलिस इनकी तलाश कर रही थी. इसके लिए प्लानिंग करके एक पुलिस वाले गौतम को भेस बदलकर ई रिक्शा का चालक बनाया गया. वह संजय प्लेस से लोहामंडी तक ई रिक्शा चलाते थे.

सोते रह गए आइसक्रीम व्यापारी, घर से चोर उड़ा कर ले गए लाखों का सोना-चांदी

शुक्रवार को संजय प्लेस से हरीपर्वत चौराहे के लिए बुजुर्ग सवारी उनके ई रिक्शा में बैठी. उसके बराबर में एक व्यक्ति अपने पैरों पर थैला रखकर बैठ गया. उसने बुजुर्ग की जेब काट ली. बुजुर्ग के शोर मचाने पर सिपाही ने पकड़ लिया. उसके पास से 65 हजार रुपये बरामद हो गए. 

दोस्ती नहीं कबूली तो घर पहुंच गया सिरफिरा आशिक, चाकू से हमला करते हुए बोला…

थाना हरीपर्वत में पूछताछ में आरोपी ने पहले अपना नाम संजय गिहारा निवासी पुरवा, थाना बिंदकी, फतेहपुर बताया बाद में सख्ती से पूछने पर उसने अपना असली नाम शंकर निवासी रामनगर गिहार बस्ती, थाना छिबरामऊ, कन्नौज बताया. पुलिस उससे गैंग के बारे में पूछताछ कर रही है. हालांकि उसने कोई जानकारी नहीं दी और बीमार होने का बहाना बनाया. उसके परिजन भी पुलिस स्टेशन पहुंचे. 

अन्य खबरें