शातिर साइबर चोर! डोनेशन में मांगा एक रुपया और खाते से निकल गए 46 हजार रुपये

Smart News Team, Last updated: 20/07/2020 08:50 PM IST
  • ताजगंज में टूर गाइड से सैन्य कर्मी बनकर एक रूपया पेटीएम के जरिए दान करने के लिए कहा. एक रूपया भेजते ही पीड़ित के खाते से पांच बार में 46 हजार रूपये निकाल लिए गए.
डोनेशन में मांगा एक रुपया और खाते से निकल गए 46 हजार रुपये

आगरा. ताजनगरी में साइबर क्राइम तेजी से अपने पैर पसार रहा है. इस बार एक नए तरीके से ठगी को अंजाम दिया गया है. मामला ताजगंज का है. ठगी करने वाले साइबर अपराधियों ने पीड़ित से डोनेशन यानी दान के नाम पर एक रूपये की मांग की. एक रूपये के लिए पीड़ित से पेटीएम ट्रांजेक्शन करवाया. इसके जरिए अपराधियों ने पांच बार में पीड़ित के खाते से 46 हजार रूपये निकाल लिए.

ठगी के बारे में पीड़ित ने ताजगंज थाने के साथ-साथ साइबर सेल में शिकायत दर्ज करवाई है. पीड़ित विकास यादव ने अपनी शिकायत में बताया कि वो ताजगंज के धांधूपुरा का निवासी है. विकास टूर गाइड का काम करता है. उसने फतेहाबाद रोड स्थित आईडीबीआई बैंक में खाता खुलवा रखा है. रविवार शाम को उसे एक फोन कॉल आया और कॉलर ने खुद को सैन्य कर्मी बताया.

आगरा में वीकेंड लॉकडाउन का पर्यावरण पर असर, बदल गई ताजनगरी की आबोहवा

कॉलर ने विकास से कहा कि देश के सभी लोगों से डोनेशन मांगा जा रहा है और इसके तहत सभी अपनी मर्जी से कितने भी रूपये का दान दे सकते हैं. कॉलर ने विकास से कहा कि एक रूपया भी पेटीएम के जरिए दान किया जा सकता है. 

जल्द बंद हो जाएगी रेलवे की 165 साल पुरानी ये सुविधा, विरोध में हो रहा प्रदर्शन

पेटीएम के जरिए दान करने के लिए कॉलर यानि साइबर अपराधी ने विकास को फोन पर एक बारकोड भेजा. विकास ने बताया कि बारकोड स्कैन पर एक रूपया भेजते ही उनके खाते से दो बार पांच-पांच हजार, दो बार दस-दस हजार रुपये और एक बार 16 हजार रूपये निकल गए.

विकास के खाते से इस तरह पांच बार में कुल 46 हजार रुपये निकल गए. पैसे निकाले जाने के मैसेज बैंक से विकास के फोन पर आए. इन मैसेज को देखकर विकास को ठगी का आभास हुआ. विकास ने बताया कि ठगी के बारे में आभास होते ही उन्होंने बैंक में फोन करके अपना खाता ब्लॉक करवा दिया है. खाता ब्लॉक करवाने के बाद उन्होंने थाने और साइबर सेल में शिकायत दर्ज करवाई.

अन्य खबरें