आगरा

जाको राखे साइयां मार सके ना कोई, सोनू से एक फुट पहले थमा मौत का पहिया

Smart News Team, Last updated: 08/07/2020 02:32 PM IST
  • आगरा-दिल्ली हाईवे पर हुए भीषण हादसे के दौरान घटनास्थल पर मौजूद एक शख्स ऐसा भी था जिसके पास मौत पहुंची तो लेकिन उसे छुए बगैर ही निकल गई।
सोनू के पास से गुजर गई मौत

आगरा. मंगलवार को आगरा-दिल्ली हाईवे पर हुए भीषण हादसे में एक खाली कंटेनर सो रहे सात मजदूरों पर चढ़ गया जिनमें 6 लोगों की मौत हो गई। घटना के समय पांच मजदूरों ने मौके पर ही दम तोड़ दिया था जबकि एक मजदूर की मौत अस्पताल में हुई। एक मजदूर का ईलाज चल रहा है जिसकी हालत चिंताजनक बताई जा रही है। घटना के समय घटनास्थल पर एक सोनू नाम का युवक भी सोया जिससे कुछ फुट पहले ही ट्रक पहिया थम गया और उसकी जान बच गई। इस मामले में सोनु पर यह कहावत एकदम सटीक बैठती है ''जाको राखे साइयां मार सके ना कोई।''

सोनू ने अपनी आंखों ने हादसे के बाद दर्दनाक मंजर को देखा जिसे कोई भी देखकर घबरा जाए। जिस समय कंटेनर मजदूरों पर चढ़ा उस समय सभी गहरी नींद में थे। सोनू भी उन्हीं के पास सोया था। किसी की चीख तक नहीं निकल पाई और कंटेनर ऊपर से चढ़कर गुजर गया। लेकिन संयोग से सोनू बच गया।

आगरा में दर्दनाक हादसा, हाईवे किनारे सो रहे 7 मजदूरों को ट्रक ने कुचला, 6 की मौत

रात में हादसे के बाद पास में सो रहे एक युवक ने जोर-जोर से हिलाकर उठाया। सोनू घबरा गया। आंख खुली तो आस-पास खून पड़ा था। उसके पास में सो रहे लोग छटपटा रहे थे। उठाने वाले युवक ने उससे कहा कि जल्दी से पुलिस को फोन कराओ। वह दौड़कर सामने सिनर्जी हॉस्पीटल में पहुंचा। वहां लोगों को बताया कि सामने हादसा हो गया। किसी ने पुलिस को फोन नहीं किया। वह बाहर आ गया। इसी बीच पुलिस आ गई।

रात के समय सोनू को नेपाल बार्डर के पास रहने वाले संतोष चौधरी ने उठाया था। संतोष चौधरी ने बताया कि वह कबाड़ा बीनता है। रात को जहां जगह मिलती है सो जाता है। हादसे से दो मिनट पहले शौच के लिए दुकानों के पीछे रेलवे लाइन पर गया था। वापस लौटा तो लोगों को छटपटाते हुए देखा तो घबरा गया था। फिर संतोष चौधरी ने सोनू को उठाया।

अन्य खबरें