आगरा

दोस्त-दोस्त न रहा: लग्जरी कार दिलाने के बहाने किया लाखों का फ्रॉड, केस दर्ज

Smart News Team, Last updated: 22/07/2020 02:37 PM IST
  • आगरा में आरोपी ने कार दिलवाने के बहाने लाखों की रकम हड़प ली. पुलिस ने गंभीर धाराओं में कार्रवाई की. मामला कोर्ट पहुंचने पर आरोपी ने जमानत याचिका दर्ज की. कोर्ट ने जमानत याचिका खारिज की.
आगरा में एक दोस्त की करतूत

आगरा के न्यू आगरा थाना में धोखाधड़ी का मामला दर्ज हुआ है. इसमें कहा गया है कि एक शख्स ने कार का लोन दिलवाने के नाम पर पीड़ित से लाखों रूपए हड़प लिए. लाखों की इस धोखाधड़ी का मामला तिलक नगर वेस्ट दिल्ली निवासी हरप्रीत सिंह उर्फ विक्रम सिंह के नाम पर दर्ज हुआ. 

राजा मानसिंह हत्याकांड पर अंतिम फैसला आज, 35 साल, 8 बार फाइनल बहस, 1700 तारीखें

बताया गया कि आरोपी ने कार का लोन दिलाने के नाम पर पीड़ित से सात लाख 66 हजार रुपये हड़प लिए. न्यू आगरा थाना में केस दर्ज करवाया गया जिसमें कहा गया कि वादिया नीलम संत का पुत्र कनिष्क कुमार संत नई दिल्ली में रहकर एलएलबी की पढ़ाई कर रहा था. नई दिल्ली में ही उसकी पहचान आरोपी हरप्रीत सिंह से हुई. इसके बाद दोनों का एक-दूसरे के घर आना-जाना बढ़ा.

CM के मंच को जीप से तोड़ने वाले राजा मानसिंह की हत्या मामले में सजा का ऐलान आज 

शिकायत में कहा गया कि पहले आरोपी हरप्रीत ने कनिष्क से अपनी जरूरत के लिए दो लाख रूपये मांगे. कनिष्क ने उसे रूये दिए जो काम पूरा होने पर हरप्रीत ने लौटा दिए. इसके बाद हरप्रीत ने पीड़ित को एक क्रेटा गाड़ी दिलाने का ऑफर दिया. इसी की एवज में उसने 7 लाख 66 हजार रूपये धोखे से हड़प लिए. 

आगरा के जोंस मिल धमाके की धमक लखनऊ तक पहुंची, ATS और IB ने भी शुरू की जांच

पुलिस ने आरोपी के खिलाफ गंभीर धाराओं में कार्रवाई की है. केस दर्ज होने के बाद आरोपी को जिला कोर्ट में पेश किया गया. आरोपी ने कोर्ट में जमानत याचिका दायर की. पीड़ित की ओर से डीजीसी बसंत कुमार गुप्ता ने आरोपी की जमानत का विरोध किया. जिला जज मयंक कुमार जैन ने आरोपी की जमानय याचिका खारिज करने के आदेश दिए.

अन्य खबरें