आगरा

आगरा में चर्चित ज्वैलर को महंगी पड़ी पुलिस से चोरी और सीना जोरी, मुकदमा दर्ज

Smart News Team, Last updated: 11/06/2020 10:22 AM IST
  • चेकिंग में पुलिस कर्मियों से अभद्रता का वीडियो वायरल होने के बाद आगरा के चर्चित ज्वैलर केशव अग्रवाल को चोरी और सीना जोरी महंगी पड़ गई।
आगरा में एक सर्राफा कारोबारी को पुलिस से सीना जोरी भारी पड़ गई। (प्रतिकात्मक फोटो)

आगरा. ताजनगरी आगरा के चर्चित ज्वैलर केशव अग्रवाल को चोरी और सीना जोरी महंगी पड़ गई। चेकिंग में पुलिस कर्मियों से अभद्रता का वीडियो वायरल हुआ तो हकीकत सभी के सामने आ गई। एसएसपी ने भी वीडिया पर संज्ञान लिया। तत्काल मुकदमा दर्ज करने के आदेश दिए। पुलिस ने न्यू आगरा थाने में उनके खिलाफ लॉकडाउन उल्लंघन, सरकारी कार्य में बाधा, गाली-गलौज और जान से मारने की धमकी देने की धारा के तहत मुकदमा दर्ज किया है।

दरअसल, बीते मंगलवार को बल्केश्वर निवासी छवि ज्वैलर्स के मालिक केशव अग्रवाल ने एसएसपी को एक प्रार्थना पत्र व्हाट्स एप किया था। जिसमें आरोप लगाया था कि सोमवार की रात कमला नगर में चेकिंग के दौरान पुलिस कर्मियों ने उनसे अभद्रता की। एक घंटे बंधक बनाकर रखा। गाड़ी की तलाशी के दौरान गाड़ी में रखे जेवरात गायब कर दिए। चेकिंग कर रहे पुलिस कर्मियों ने केशव अग्रवाल का वीडियो बनाया था। जिसमें साफ दिख रहा था कि अभद्रता उसकी तरफ से की गई थी। गाड़ी में हैंड ब्रेक के पास एक कांच का गिलास भी रखा था। इसी वीडियो को आधार बनाते हुए पुलिस ने अब पलटवार किया है।

बता दें कि न्यू आगरा थाना में तैनात सिपाही रिंकू कुमार ने यह मुकदमा दर्ज कराया। पुलिसकर्मी ने तहरीर में लिखा है कि घटना रात करीब पौने ग्यारह बजे की है। अनलॉक के बावजूद रात नौ बजे से सुबह पांच बजे तक के कर्फ्यू के आदेश हैं। इसी नियम का पालन कराने के लिए वह रात को गश्त पर थे। उनके साथ सिपाही शिवा कुशवाह मौजूद था। सुभाष नगर की तरफ से तेजी से आ रही एक कार को रोका। उसमें सवार युवक ने उनके सामने गाड़ी में रखे कांच के गिलास में भरी शराब पी। उन्हें सुबह देख लेने की धमकी दी। सरकारी कार्य में बाधा डाली। उनके साथ अभद्रता की। पकड़ते इससे पहले वह कार तेजी से लेकर भाग गया। कार का चालान उसी दौरान ऑनलाइन कर दिया गया था।

जिले के एसएसपी बबलू कुमार ने कहा कि यह मुकदमा बहुत जरूरी था। ताकि जनता को भी पता लगे कि पुलिस पर लगाए गए सभी आरोप हर बार सही नहीं होते हैं। पुलिस नियमों का पालन कराती है तो लोग उलझते हैं। फर्जी आरोप लगाते हैं। ताकि पुलिस की छवि खराब हो। केशव अग्रवाल को गिरफ्तार करके कोर्ट में पेश किया जाएगा। ताकि उसे अहसास रहे कि पैसे और शराब के नशे में पुलिस कर्मियों से अभद्रता कितनी महंगी पड़ सकती है।

अन्य खबरें