दुश्मनों को फंसाने के लिए पिता के शव को लटकाया फंदे पर, 8 पर फर्जी केस किया

Smart News Team, Last updated: 17/08/2020 07:57 PM IST
  • ताजनगरी में बेटे ने पिता की मौत पर दुश्मनों से बदला लेने के लिए साजिश रची. गांव के 8 लोगों पर हत्या का झूठा मुकदमा दर्ज कराया.
आगरा के युवक ने पिता के शव को दुश्मनों से बदला लेने के लिए इस्तेमाल किया.

आगरा. ताजनगरी के सिकंदरा के गांव लोहकरैरा से विरोधियों पर हत्या का झूठा मुकदमा चलाने का मामला सामने आया है. पिता की हत्या के मामले में बेटे ने गांव के 8 लोगों के खिलाफ हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था. सिकंदरा पुलिस ने मुकदमे को फर्जी पाया और नामजद आरोपियों को क्लीनचिट दे दी है.

सिकंदरा के लोहकरैरा के निवासी राजाराम का शव 12 नवंबर 2018 को पेड़ से लटका मिला था. वहीं शव के पास सबमर्सिवल का तार भी निकला हुआ था. जिसके कारण राजाराम के परिवार ने आरोप लगाया कि उनकी करंट लगाकर हत्या कर दी गई. इसके साथ ही पेड़ पर लटकाकर आत्महत्या का रूप दिया गया है जिसमें राजाराम के बेटे ने गांव के 8 लोगों का नाम लिया था. 

कब्जे का विरोध कर रही बुजुर्ग महिला को दबंगों ने JCB से उड़ाया, घायल

पोस्टमार्टम की रिपोर्ट में मौत की वजह करंट लगना था. पुलिस ने तर्क दिया था कि जबरन मारे जाने पर शरीर पर संघर्ष के निशान आते हैं. वहीं किसान के शरीर पर कोई निशान नहीं थे. इसी तर्क के आधार पर इसे हत्या का मामला नहीं माना गया था. 

डॉक्टर दीप्ति के पिता को नहीं आगरा पुलिस से इंसाफ की आस, DGP से करेंगे मुलाकात

आगरा पुलिस ने लगभग दो साल बाद इस केस में सोमवार को कार्रवाई की थी. इंस्पेक्टर सिकंदरा अरविंद कुमार ने कहा कि किसान के बेटे ने झूठे आरोप लगाए थे और उसे जेल भेज दिया गया है. पूछताछ में पाया गया कि किसान की मौत करंट लगने से हुई थी. जब किसान के बेटे राजकुमार को यह बात पता चली तो उसने पिता की मौत को कैश करने का प्लान बनाया. दुश्मनों को हत्या के मामले में फंसाने की साजिश रची थी. घर के अन्य लोगों के साथ मिलकर पिता के शव को फंदे पर लटकाया था. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें