डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर केस: हाथ में बाल नाखून में खाल, मरने से पहले बहुत लड़ीं

Smart News Team, Last updated: 20/08/2020 08:49 AM IST
  • डॉ योगिता गौतम मर्डर केस में पुलिस ने बताया है कि शव के हाथ में बाल थे और नाखून में खाल के अंश थे जिससे लगता है कि मरने से पहले चलती कार में योगिता ने बहुत संघर्ष किया और आखिरी दम तक अपनी जिंदगी बचाने के लिए लड़ी. 
डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर केस: हाथ में बाल नाखुन में खाल, मरने से पहले बहुत लड़ीं

आगरा. आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज की पीजी पास छात्रा डॉक्टर योगिता गौतम के मर्डर केस में पुलिस ने शव को पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है. पुलिस ने बताया कि पोस्टमार्टम में भेजने से पहले शव की जांच में योगिता के हाथ में कुछ बाल और नाखुन में खाल के अंश मिले थे. जिससे लगता है कि मरने से पहले चलती कार में योगिता ने बहुत संघर्ष किया और आखिरी दम तक अपनी जिंदगी बचाने के लिए लड़ी. 

पुलिस की दी गई जानकारी के मुताबिक योगिता के सिर पर भारी चीज से वार किया गया था जिससे उसकी मौत होने की बात कही जा रही है. अंदाजा लगाया जा रहा है कि ये भारी चीज शराब की बोतल भी हो सकती है. हालांकि पोस्टमार्टम से ही मौत की असल वजह सामने आएगी. वहीं दूसरी ओर योगिता के परिवार वालों ने उसके सीनियर विवेक तिवारी को इस मामले में आरोपी बनाया है. पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया है. 

आगरा एसएन मेडिकल कॉलेज की पीजी स्टुडेंट डॉ. योगिता गौतम की हत्या, सीनियर पर केस

डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर केस: शाम को आगरा में था आरोपी विवेक तिवारी, हिरासत में

पुलिस आरोपी विवेक तिवारी से पूछताछ कर रही है. पुलिस को आरोपी ने अपनी गाड़ी की भी खबर दे दी है. उसकी गाड़ी उसके कानपुर वाले घर में है. पुलिस गाड़ी को आगरा लाने की तैयारी में है. इसके बाद गाड़ी की फॉरेंसिक जांच करवाई जाएगी. विवेक तिवारी पर योगिता को अगवा करके चलती कार में उसकी हत्या करके शव सड़क किनारे फेंकने का आरोप है. 

आगरा डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर केस: शादी के लिए दबाव देता था आरोपी विवेक तिवारी

योगिता के भाई ने पहले विवेक तिवारी के खिलाफ अपहरण की तहरीर दी थी. योगिता का शव मिलने के बाद उन्होंने विवेक को हत्या का आरोपी बताया. योगिता के भाई ने बताया कि योगिता ने मंगलवार को उन्हें फोन करके बताया था कि विवेक उसे धमकी देता है और शादी का दबाव बना रहा है. इसके बाद योगिता के घर वाले दिल्ली से आगरा आने के लिए निकल गए.

डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर: रात भर योगिता की मां को फोन कर अनजान बना विवेक तिवारी

मंगलवार शाम जब योगिता के परिवार वाले आगरा पहुंचे तो उसे घर में ना पाकर उन्होंने विवेक के खिलाफ अपहरण की शिकायत दर्ज करवाई. मामले की जांच कर रही पुलिस ने बुधवार शाम उन्हें एक अज्ञात शव की शिनाख्त के लिए बुलाया जिसे बाद में उन्होंने पहचान कर योगिता का शव बताया. इसी के बाद विवेक तिवारी को हिरासत में लिया गया. पुलिस विवेक तिवारी से पूछताछ कर रही है.

आगरा डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर केस: मां और भाई ने हाथ जोड़े पर नहीं पसीजी पुलिस

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें