डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर केस: विवेक तिवारी का एकतरफा प्यार, शादी से इनकार, हत्या

Smart News Team, Last updated: 20/08/2020 11:45 AM IST
  • डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर केस में आरोपी विवेक तिवारी ने हत्या करने की बात कबूल ली है. मामला एकतरफा प्यार का है. योगिता ने शादी से इनकार किया तो विवेक ने आवेश में आकर उसकी हत्या कर दी.
डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर केस मे आरोपी विवेक तिवारी ने कबूल कर लिया है कि योगिता के शादी से इंकार करने के कारण ही उसने योगिता की हत्या की.

आगरा. डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर केस में आरोपी विवेक तिवारी ने योगिता को मौत के घाट उतारने की बात कबूल ली है. उसने योगिता की हत्या इसलिए की क्योंकि योगिता ने उससे शादी करने के लिए इंकार कर दिया था. इसी के आवेश में वो पूरी तैयारी के साथ योगिता से आखिरी बार मिलने आया और उसकी हत्या कर दी. एसएन मेडिकल कॉलेज की पीजी छात्रा डॉक्टर योगिता गौतम को मारने के पीछे विवेक ने कारण बताया कि योगिता ने उससे शादी करने से इंकार करते हुए उससे मिलना बंद कर दिया था.

उसने पुलिस को बताया कि पहले वो योगिता से मिलने आया और उसे उसके घर के बाहर से पिक किया. उसके बाद गाड़ी में योगिता से झगड़ा होने पर पहले उससे हाथापाई की. हाथापाई में योगिता के सिर में मारा जिससे वो सिर नीचे करके बैठ गई तो सिर के पीछे गोली मार दी. उसके बाद योगिता बच ना जाए इसलिए चाकू से भी प्रहार किया था.

डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर केस: हाथ में बाल नाखून में खाल, मरने से पहले बहुत लड़ीं

इसके बाद उसने योगिता के शव को बमरौली कटारा में फेंक दिया और भाग गया. पहले वो कानपुर गया और वहां उसने पिता की रिवाल्वर जिससे योगिता को गोली मारी उसे कानपुर के किदवई नगर स्थित घर में छिपा दिया. उसके बाद वो उरई लौट आया. गाड़ी और चाकू उरई से पुलिस को बरामद हुए और रिवाल्वर बरामद करने के लिए पुलिस की एक टीम कानपुर भेजी गई है. 

डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर केस: विवेक तिवारी ने भाई और पिता के मर्डर की धमकी दी थी

योगिता की हत्या के बाद आगरा से कानपुर होते हुए उरई पहुंचने के रास्ते में विवेक ने योगिता की मां को कई बार फोन किया. उसने योगिता की मां से यही कहा कि वो उरई में है और आगरा आया ही नहीं. उसने हर बार योगिता का हाल लेने के बहाने फोन किया ताकि उसपर किसी को शक ना हो.

आगरा डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर केस: मां और भाई ने हाथ जोड़े पर नहीं पसीजी पुलिस

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें