डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर केस: हत्यारोपी डॉक्टर विवेक तिवारी की गन बरामद

Smart News Team, Last updated: 26/08/2020 12:55 PM IST
  • डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर केस में एक हफ्ते बाद पुलिस को आरोपी डॉक्टर विवेक तिवारी की गन बरामद हो गई है जिससे उसने योगिता को मारा था. साथ ही पुलिस को योगिता का मोबाइल फोन भी मिला है.
डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर केस मे आरोपी विवेक तिवारी ने कबूल कर लिया थी कि योगिता के शादी से इंकार करने के कारण ही उसने योगिता की हत्या की.

आगरा. आगरा में एसएन मेडिकल कॉलेज की पीजी छात्रा डॉक्टर योगिता गौतम की हत्या में पुलिस की जांच जारी है. इस हत्याकांड में प्रयुक्त रिवाल्वर पुलिस ने उरई से बरामद कर ली है. आरोपी डॉक्टर विवेक तिवारी पुलिस की हिरासत में है. उसी से पूछताछ के बाद पुलिस की टीम गन बरामद करने के लिए जांच में जुटी थी. इसी के साथ पुलिस को डॉक्टर योगिता गौतम का मोबाइल भी उरई में ही बरामद हुआ है.

हालांकि पुलिस को अभी घटना के समय पहने हुए डॉक्टर विवेक तिवारी के कपड़े नहीं मिले हैं. पुलिस का कहना है कि उन कपड़ों पर योगिता का खून लगा था. उनको बरामद करके फॉरेंसिक जांच करवाई जानी थी. वहीं इस पर विवेक ने कहा है कि जो कपड़े उसने पहन रखे थे, उन्हें धो कर प्रेस करा दिया था. पुलिस टीम हत्यारोपी डॉ विवेक के साथ इस समय उरई में है. मामले में पुलिस की जांच जारी है.

प्रेमी विवेक ने कैसे दिया डॉ योगिता के कत्ल को अंजाम, पढ़िए पूरा कबूलनामा

पुलिस के मुताबिक विवेक बार-बार अपने बयान बदल रहा है. पहले विवेक ने कहा था कि उसने योगिता के सर में तीन गोली मारी थीं. हालांकि अब पुलिस का कहना है कि विवेक ने बताया उसने एक गोली योगिता के सीने में मारी और बाद में सर में दो गोलियां मारी. उसके बाद उसने पुलिस से कहा कि वो अभी भयभीत, परेशान और अस्थिर है. उसे कुछ समय चाहिए.

डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर केस: विवेक तिवारी ने बताया, क्यों प्रेमिका की हत्या

बता दें कि शादी के लिए योगिता ने मना किया इस कारण विवेक ने उसे मार दिया. विवेक उरई से आगरा आया और योगिता को आखिरी बार मिलने के लिए बुलाया. इसी दौरान गाड़ी में दोनों के बीच झगड़ा और हाथापाई हुई और आवेश में आकर विवेक ने योगिता पर गोली चला दी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें