आगरा: जमीन हस्तांतरण के साथ ही गति पकड़ेगा आगरा मेट्रो रेल परियोजना

Smart News Team, Last updated: 30/09/2020 02:26 AM IST
1- मेट्रो रेल परियोजना और कास्टिंग यार्ड के लिए जमीन लगभग फाइनल हो चुकी है. अब जमीन के हस्तांतरण की सिर्फ कार्रवाई की जानी है. हस्तांतरण के साथ ही परियोजना को गति मिलने लगेगी. दोनों ही ज़मीनें आगरा विकास प्राधिकरण के पास हैं जिसे हस्तांतरण करने में ज्यादा समय नहीं लगेगा. आपको बता दें कि आगरा मेट्रो रेल परियोजना में पहले ही काफी देरी हो चुकी है. मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अधिकारियों को आदेश दिए थे कि वर्ष 2021 तक आगरा में मेट्रो रेल परियोजना के तहत कम से कम एक कॉरिडोर का काम पूरा हो जाए और मेट्रो दौड़ने लगे लेकिन लॉकडाउन के चलते परियोजना पर ब्रेक लग गई. मेट्रो अधिकारियों का कहना है कि 31 जुलाई तक मेट्रो ट्रेन का ट्रायल कर दिया जाएगा.     2- थाना एम एम 8 के तहत शीतला गली में पापड़ वाली सोमवार की सुबह चौंकाने वाला मामला सामने आया. जहां बड़े भाई ने अपने ही सगे छोटे भाई को की पत्थर से सिर कुचलकर हत्या कर दी. छोटा भाई गहरी नींद में सोया था. सूचना पर पहुंची पुलिस घटना की छानबीन कर रही है. मौके पर पुलिस को खून से सना हुआ पत्थर मिला है. पुलिस ने बड़े भाई को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.   3- शाहगंज के सूदखोर सुनील सागर, मुकेश सागर, सुशील सागर को जूता व्यापारी से ब्याज की वसूली करना महंगा पड़ गया. मामला प्रकाश में आने पर पुलिस ने भी तेजी दिखाई. इस दौरान पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर तीनों सूदखोरों को जेल भेज दिया. सवा एक लाख उधार लिए जाने के बाद सूदखोरों द्वारा जूता कारोबारी दीपक से का उत्पीड़न किया जा रहा था. जिसके बाद दीपक ने पत्नी और दो बच्चों सहित जहर खाकर आत्महत्या करने का प्रयास किया था. रिश्तेदारों व स्थानीय लोगों की मदद से दरवाजा तोड़कर दीपक और परिवार को अस्पताल पहुंचाया गया था. फिलहाल परिवार के सभी सदस्य खतरे से बाहर है.   4- आईएमए के पूर्व अध्यक्ष डॉक्टर सुशील सुधीर सिंह ठाकरे के साथ धाकड़े के खिलाफ़ न्यू आगरा थाने में जानलेवा हमला किए जाने पर मुकदमा दर्ज किया गया है. पुलिस ने यशवंत हॉस्पिटल के डॉक्टर सुरेंद्र भागवत की तहरीर पर मुकदमा दर्ज किया है. देर रात दोनों के बीच विवाद उत्पन्न हो गया. इस बीच दोनों ने एक दूसरे के ऊपर फायरिंग किए जाने का आरोप लगाया है. सीसीटीवी फुटेज के आधार पर पुलिस ने मुकदमा दर्ज कर लिया है. डॉक्टर धाकड़े ने अभी तक पुलिस को कोई तहरीर नहीं दी है.   5- आगरा कॉलेज में डॉ. प्राचार्य के रूप में डॉ एसके मिश्र ने कार्यभार संभाला है. सोमवार को डॉ एस के मिश्र ने पूर्व प्राचार्य रेखा बत्सरिया का स्थान ग्रहण किया है. डॉक्टर एस के मिश्र ने पदभार ग्रहण करने के बाद बताया कि उनकी पहली प्राथमिकता स्नातक व परास्नातक में छात्रों का समय से प्रवेश कराना है. इसके साथ ही महाविद्यालय में सुचारू रूप से पठन-पाठन कराया जाना भी उनकी प्राथमिकता में शामिल है. साथ ही सरकार की गाइड लाइन के अनुसार जल्द से जल्द कक्षाएं संचालित किया जाना भी उनकी प्राथमिकताओं में शामिल है.
आगरा बुलेटिन
आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें