आगरा में जल्द दौड़ेगी मेट्रो, भूमि हस्तांतरण पर 13 अगस्त की बैठक में फैसला

Smart News Team, Last updated: 06/08/2020 01:29 PM IST
  • आगरा मेट्रो रेल प्रोजेक्ट का काम भूमि हस्तांतरण के बाद शुरू किया जाएगा. इसको लेकर जल्‍द फैसला हो सकता है. 13 अगस्त को एक अहम बैठक होनी है जिसमें फैसला लिए जाने की संभावना है.
आगरा में जल्द दौड़ेगी मेट्रो, भूमि हस्तांतरण पर 13 अगस्त की बैठक में फैसला

आगरा मेट्रो रेल प्रोजेक्ट का काम तेजी से शुरू करने की कोशिश जारी है. काम शुरू करने के लिए जल्द भूमि हस्तांतरण पर फैसला लिया जाएगा. 13 अगस्त को होने वाली अहम बैठक में फैसला लिए जाने की संभावना है. ये बैठक प्रदेश के मुख्य सचिव आरके तिवारी की अध्यक्षता में होनी है. बैठक लखनऊ के लोक भवन में दोपहर एक बजे से होगी जिसमें आगरा मेट्रो रेल प्रोजेक्ट के लिए भूमि हस्तांतरण पर चर्चा की जाएगी. 

आगरा मेट्रो रेल प्रोजेक्ट को सुप्रीम कोर्ट की मंजूरी मिलने के बाद जानकारी आई की आगरा मेट्रो तीस किमी लंबी होगी. इसमें 30 स्टेशन होंगे. ये दो कॉरिडोर में बंटेगें. पहला कॉरिडोर सिकंदरा से ताज पूर्वी गेट तक और दूसरा आगरा कैंट से कालिंदी विहार तक होगी. पहला कॉरिडोर 14 किमी लंबा होगा और दूसरा 16 किमी लंबा. इसमें कुछ स्टेशन एलिवेटेड होंगे और कुछ अंडरग्राउंड.

आगरा मेट्रो प्रोजेक्ट को कई शर्तों के साथ सुप्रीम कोर्ट से मिली हरी झंडी

इसें सबसे पहले सिकंदरा से ताज पूर्वी मेट्रो ट्रैक पर काम शुरू होगा. इसमें सबसे पहले फतेहाबाद रोड स्टेशन का निर्माण शुरू किया जाएगा. फिर बसई और ताज पूर्वी गेट पर काम शुरू होगा. इन तीनों मेट्रो स्टेशनों के टेंडर निकाले जा चुके हैं. उन्होंने बताया कि पहला डिपो पीएसी ग्राउंड में बनेगा. 

आगरा मेट्रो को मिली मंजूरी, जानें कितने और कौन से होंगे स्टेशन

पीएसी ग्राउंड, कमिश्नरी की जमीन उप्र मेट्रो रेल कॉरपोरेशन के नाम करने के लिए कहा गया है. बैठक में इस पर भी चर्चा की जानी है. जिला प्रशासन ने इसका प्रस्ताव बनाकर शासन को भेज दिया है. मेट्रो को जमीन देने पर 15वीं पीएसी बटालियन को विधि विज्ञान प्रयोगशाला की जमीन में शिफ्ट किया जाएगा. प्रयोगशाला से सटकर सात हेक्टेअर के करीब जमीन है. दो हेक्टेअर क्षेत्र में पीएसी का नया ग्राउंड बनेगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें