करोड़ों का कूड़ा घोटाला, कई बड़े लोग शामिल, पुलिस ने मांगी नगर निगम से जानकारी

Smart News Team, Last updated: 03/08/2020 04:53 PM IST
  • आगरा पुलिस ने कूड़ा घोटाले की जांच के लिए नगर निगम से जानकारियां मांगी है. घोटाले को लेकर केस दर्ज होने के बाद से ही पुलिस जांच में जुटी हुई है.
ताजनगरी में करोड़ों का कूड़ा घोटाला

आगरा. आगरा में कूड़ा घोटाले को लेकर केस दर्ज होने के बाद जिले की पुलिस ने नगर निगम से जानकारी मांगी है. दरअसल आगरा नगर निगम में डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन में 2.82 करोड़ रुपये का घोटाला हुआ है. इसका ठेका जिन चार कंपनियों को दिया गया था उनके खिलाफ मामला दर्ज किया गया है. 

पुलिस अब मामले की जांच में लग गई है. कहा जा रहा है कि इस घोटाले में नगर निगन के कर्मचारी और उन कंपनियों की कार्यप्रणाली को जांचने की जिम्मेदारी निभारे वाले अफसर भी फंस सकते हैं. दूसरी ओर चर्चा ये भी है कि पुलिस अभी तक आरोपी कंपनियों के कार्यालयों में पूछताछ के लिए नहीं गई है.

आगरा में पुराने बीमारों और बीपी-डायबिटीज वालों को बढ़ रहा कोरोना संक्रमण का खतरा

पुलिस ने आगरा नगर निगम से तीन बिंदुओं पर जानकारी मांगी है जिनमें पहला 'डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन,नगर निगम द्वारा कुल कितने जोन मे बांटा गया था'. दूसरा 'डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन में काम को सत्यापित करने वाले जोन सुपर वाइजर और सफाई नायकों की जोनवार सूची मय नाम-पते के.' और तीसरा 'डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन के प्रत्येक जोन में लगे कुल वाहनों की सूची उनके रजिस्ट्रेशन नंबर के साथ.'

आगरा: कोरोना मरीज को होम आइसोलेशन में देने होंगे 10 दिन के 6 हजार

मालूम हो कि स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के तहत आगरा में डोर टू डोर कूड़ा कलेक्शन करने के लिए चार फर्म को ठेका दिया गया था. सितंबर 2019 में नगर निगम की बैठक में पार्षदों द्वारा चारों कंपनियों के मई और जून 2019 में प्रस्तुत किए आंकड़ों पर सवाल उठाया गया था. तीन लोगों की कमेटी ने चारों फर्म के कार्य की जांच की जिसमें घोटाले के साक्ष्य मिले.

कमेटी ने जांच में पाया कि नगर निगम के कोष में वसूली धनराशि जमा नहीं कराई गई थी. उन्हें नोटिस भी जारी किए गए थे. पुलिस घोटाले में आरोपी फर्म के पदाधिकारियों को पूछताछ के लिए नोटिस दे चुकी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें