पति से छुपकर आशिक संग गई गेस्ट हाउस, तीसरे से बात करने के शक में BF ने की हत्या

Smart News Team, Last updated: 22/09/2020 11:38 AM IST
  • आगरा के गेस्ट हाउस में रविवार को हुई महिला की हत्या की जांच में पुलिस को जानकारी मिली है कि उसके बॉयफ्रेंड ने बेवफाई के शक में उसका गला घोंटा था. महिला अपने पति से छिपकर बॉयफ्रेंड से मिलने गेस्ट हाउस गई थी.
पति से छुपकर आशिक संग गई गेस्ट हाउस, तीसरे से बात करने के शक में BF ने की हत्या

आगरा. आगरा के सिकंदरा गेस्ट हाउस में रविवार को महिला की हत्या हुई. पुलिस मामले की जांच कर रही थी जिसके चलते गुत्थी सुलझा ली है. मामले में पुलिस ने घटना के चार घंटे बाद ही महिला के बॉयफ्रेंड, हत्यारोपी लाखन सिंह को पकड़ लिया है. उसने पुलिस को बताया कि उसने ही बेल्ट से प्रीति का गला घोंटा था. ये उसने प्लान करके किया. इसी कारण फर्जी आईडी पर गेस्ट हाउस का कमरा लिया था. उसे लगा था ऐसा करने से पुलिस उसे नहीं पकड़ पाएगी. 

पुलिस को उसने बताया कि वो प्रीति को लेकर सिकंदरा चौराहे के पास सिकंदरा गेस्ट हाउस के कमरा नगर 121 में गया था. वहीं उसने प्रीति की हत्यी की. पुलिस को बाईंपुर निवासी 35 वर्षीय प्रीति का शव मिला था. जांच में पुलिस को पता चला उसका पति लिखेंद्र बघेल टेंपो चालक है और उसकी तीन बेटियां हैं. बड़ी बेटी 18 साल की है. पुलिस ने प्रीति की कॉल डीटेल निकाली जिनमें पता चला की उसने नगला बूढ़ी निवासी लाखन सिंह से कई बार बात की. हत्या की सुबह भी प्रीति की उसी से बात हुई. 

होटल में आया था कपल, कमरे में मिला सिर्फ महिला का शव, बॉयफ्रेंड फरार

पुलिस ने लाखन की लोकेशन की जांच की और उसो डौकी से धरा. उसने बताया कि प्रीति उससे पैसे मांगा करती थी. लाखन की 17 सितंबर को नौकरी चली गई और वो इस कारण प्रीति को पैसे नहीं दे पा रहा था. प्रीति उससे 80 हजार रुपये तक ले चुकी थी. उसने प्रीति से दूरी बनानी शुरू की तो उसने किसी और लड़के से बात करनी शुरू कर दी. इससे नाराज लाखन ने प्रीति को मारने की प्लानिंग की. 

स्पा सेंटर में मसाज गर्ल्स की कैटवॉक वीडियो वायरल होने के बाद एक्शन, लगा ताला

लाखन प्रीति को गेस्ट हाउस ले गया और वहां फर्जी आईडी पर कमरा लिया. हत्या सुबह करीब 11 बजे हुई थी. पुलिस को हत्या की सूचना दोपहर करीब तीन बजे मिली थी. सीसीटीवी फुटेज में हत्यारेापी कैद हो गया था और प्रीति के पर्स में मिले कागजात के आधार पर उसकी पहचान हुई थी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें