आगरा

इश्कवालों के लिए जानलेवा मोहब्बत का शहर आगरा, खूनी प्यार ने ली सबसे ज्यादा जान

Smart News Team, Last updated: 16/07/2020 06:09 PM IST
  • ताजनगरी आगरा में पिछले 1 साल में सबसे ज्यादा हत्या की वारदात प्रेम-प्रसंग से जुड़े मामलों में हुई है।
 फोटो क्रेडिट- बॉबी जो फोटोग्राफी (फेसबुक पेज)

आगरा. मोहब्बत का शहर ताजनगरी आगरा अब शायद मोहब्बत के लिए महफूज जगह नहीं। पिछले एक साल में ताजनगरी में सबसे ज्यादा अपराधिक मामले प्रेम-प्रसंग से जुड़े थे। यानी प्यार करने वालों ने ही सबसे ज्यादा एक दूसरे की जान ली। इन मामलों में इश्क में धोखेबाजी से लेकर पति-पत्नी और वोह तक का झगड़ा शामिल है।

मिली जानकारी के अनुसार, आगरा में पिछले 1 साल में 53 कत्ल की वारदातें हुईं जिनमें 37.7 प्रतिशत मामले प्रेम-प्रसंग से जुड़े थे। वहीं 28 फीसदी अपराध जमीनी विवाद के चलते हुए। लूट की वजह से 10 और दूसरी वजहों से हत्या के 24.3 फीसदी मामले रहे। पुलिस के अनुसार, हत्या के 53 मामलों में प्रेम संबंध के 20, संपत्ति-लेनदेन विवाद के 15, लूट-डकैती के 5 मामले हैं। यह आंकड़े 11 जून 2019 से 10 जून 2020 के बीच हैं।

कोरोना काल की बकरीद: आगरा में ऑनलाइन सजा बकरा बाजार, 'सलमान' की ज्यादा डिमांड

आगरा एसपी सिटी रोहन बोत्रे ने कहा कि प्रेम-प्रसंग से जुड़े अपराधों पर लगाम कसने के लिए कपल थेरेपी का इस्तेमाल किया जाएगा। कपल थेरेपी पति-पत्नी के बीच बिगड़े संबंधों को जोड़ने का काम करती है। इसके जरिए दोनों के बीच चले आ रहे मनमुटाव को दूर किया जा रहा है। कोशिश है कि डॉक्टरों की मदद से उनका माइंड वॉश किया जाए।

ताजनगरी में ये कैसी सुनवाई? सौतेले पिता ने किया रेप, 3 बार गई थाने तो भगा दी गई

एसपी सिटी ने बताया कि ऐसी वारदातें रोकने के लिए पति-पत्नी के मामलों को आपसी समझौते के साथ खत्म किया जा रहा है। साथ ही पुलिस लाइन में काउंसिलिंग के जरिए इन अपराधों को रोकने की कोशिश की जा रही है। वहीं जमीनी विवाद से होने वाले मर्डर को रोकने के लिए भी लगातार पुलिस बेहतर व्यवस्था बना रही है।

अन्य खबरें