आगरा

आगरा: कोख के सौदागरों पर कसने लगा शिकंजा, सरगना नीलम के कैरियर को पुलिस ने दबोचा

Smart News Team, Last updated: 09/07/2020 10:11 AM IST
  • एसएसपी बबलू कुमार ने बताया कि 19 जून को फतेहाबाद पुलिस ने टोल प्लाजा से दो महिला, तीन पुरुषों को गिरफ्तार किया था। उनके पास से तीन कन्या शिशुओं को भी बरामद किया गया था।
कोख के सौदागर गैंग की सरगना नीलम।

कोख के सौदागर मामले में फतेहाबाद पुलिस ने बुधवार को सरगना नीलम के कैरियर को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार युवक शिशुओं को इधर से उधर लाने और ले जाने का काम करता था। पुलिस ने दो दिन पहले नीलम को रिमांड पर लिया था। जिसके बाद आरोपित युवक की गिरफ्तारी हो सकी है।

एसएसपी बबलू कुमार ने बताया कि 19 जून को फतेहाबाद पुलिस ने टोल प्लाजा से दो महिला, तीन पुरुषों को गिरफ्तार किया था। उनके पास से तीन कन्या शिशुओं को भी बरामद किया गया था। पूछताछ में आरोपितों ने बताया कि कोख के सौदागर हैं। अवैध तरीके से सरोगेसी के माध्यम से बच्चों को पैदा करना और फिर उनकी खरीद-फरोख्त करते थे।

कोख के सौदागर: जब सरगना नीलम के खाते में लाखों का लेन-देन देख पुलिस रह गई दंग

पुलिस ने गैंग की सरगना नीलम को पहले ही जेल भेज दिया था। दो दिन पहले उसे पुलिस रिमांड पर लिया गया था। रिमांड के दौरान नीलम ने आनंद राहुल सारस्वत निवासी हर्ष बिहार, बदरपुर, पश्चिमी दिल्ली के बारे में बताया। राहुल मूलत: गाड़ी चलाने का काम करता था। वह बच्चों (शिशुओं) को इधर से उधर ले जाने का काम करता था। राहुल ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि वह कैरियर है। तीन बच्चों को वह बंगाल के सिलिगुड़ी लेकर जा रहा था। जहां से उन्हें नेपाल भेजा जाता। पुलिस अब इस रैकेट की खोजबीन में लग गई है।

कोख की सौदागर नीलम ने रिमांड पर उगले कई अहम राज, मिले नेपाल पहुंचने के सुराग

ये लोग जा चुके हैं जेल

एसएसपी ने बताया कि प्रदीप निवासी फरीदाबाद, अमित निवासी बदरपुर नई दिल्ली, राहुल निवासी हरीनगर दिल्ली, नीलम निवासी फिरोजाबाद और रुबी निवासी नई दिल्ली को पुलिस पहले ही जेल भेज चुकी है। बुधवार को आनंद राहुल सारस्वत को जेल भेजा गया है।

चालू रखा अवैध धंधा

एसएसपी ने बताया कि पहले सरोगेसी का काम वैध था। विदेशी दंपतियों के लिए यह लोग पूर्व में भी सरोगेसी के माध्यम से शिशु उपलब्ध कराते थे। बाद में केंद्र सरकार द्वारा इसे गैर कानूनी घोषित कर दिया गया। लेकिन इन लोगों ने डॉक्टरों की मदद से यह काम जारी रखा। अवैध तरीके से अपने धंधे में लगे रहे।

अन्य खबरें