रेंट विवाद में किराएदार को जिंदा जलाया, सवा साल बाद मां-दो बेटियां गिरफ्तार

Smart News Team, Last updated: 08/07/2020 10:45 AM IST
  • आगरा में हत्या के आरोप में पिछले एक साल से अधिक समय से फरार चल रहे मां और उसकी दो बेटियों को पुलिस ने अपनी गिरफ्त में ले लिया है।
रेंटर को जिंदा जलाकर मारने की आरोपी मां और दोनों बेटियां।

आगरा में हत्या के आरोप में पिछले एक साल से अधिक समय से फरार चल रहे मां और उसकी दो बेटियों को पुलिस ने अपनी गिरफ्त में ले लिया है। आगरा के देवरी रोड में मार्च 2019 को किराएदार की जिंदा जलाकर हत्या के मामले में सदर पुलिस ने सवा साल बाद मां और उसकी दो बेटियों को गिरफ्तार करके मंगलवार को जेल भेजा है। इन तीनों मां-बेटियों पर 10-10 हजार रुपये का इनाम था।

कोख के सौदागर: जब सरगना नीलम के खाते में लाखों का लेन-देन देख पुलिस रह गई दंग

दरअसल, घटना 31 मार्च 2019 की है। सदर थाना के देवरी रोड‌ स्थित राम विहार कॉलोनी फेज-एक निवासी सुनीता पत्नी कंचन सिंह के मकान में राजेश शुक्ला किराए पर रहता था। दो महीने का किराया देने को लेकर मकान मालिक से किराएदार राजेश का विवाद हो गया था। आरोप था कि विवाद के बाद मकान मालिक ने राजेश पर मिट्टी का तेल डालकर आग लगा दी थी। राजेश बुरी तरह से झुलस गया था। उसका इलाज चला था। दो दिन बाद उसकी मौत हो गई थी। 

राजेश के परिवार वालों ने पहले जानलेवा हमले की धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया था। मौत के बाद मुकदमा हत्या की धाराओं में बदला गया। इसमें सुनीता, उसकी बेटी पूनम और रेनू को नामजद किया गया। घटना के बाद से सुनीता सिंह अपने परिवार के साथ फरार थी। पुलिस की ओर से तीनों पर 10-10 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया।

आगरा में दर्दनाक हादसा, हाईवे किनारे सो रहे 7 मजदूरों को ट्रक ने कुचला, 5 की मौत

सदर थाना प्रभारी जितेंद्र कुमार ने कहा, तीनों महिलाओं को मंगलवार को ईदगाह बस स्टैंड के पास से गिरफ्तार किया है। आरोपी महिलाओं ने पुलिस को पूछताछ में बताया कि घटना के बाद सुनीता मकान खाली करके मध्य प्रदेश में अपने किसी रिश्तेदार के घर रहने चली गई थी। कुछ माह पहले किराए पर थाना न्यू आगरा क्षेत्र में रहने लगी थी। 

अन्य खबरें