आगरा में छपे थे CM योगी के आपत्तिजनक पोस्टर, सपा छात्र नेता समेत 3 अरेस्ट

Smart News Team, Last updated: 05/09/2020 07:23 PM IST
  • सीएम योगी आदित्यनाथ के आपत्तिजनक पोस्टर आगरा के संजय प्लेस में छपे थे. पोस्टर को छपवाने वाला सपा नेता विकास सिंह आगरा के सिकंदरा का निवासी है. शुक्रवार देर रात लखनऊ पुलिस ने उसे गिरफ्तार कर लिया. 
गिरफ्तार आरोपी

आगरा. सीएम योगी आदित्यनाथ केे आपत्तिजनक पोस्टर आगरा में छापे गए हैं. ये पोस्टर संजय प्लेस की एक प्रिंटिंग प्रेस में छापे गए. लखनऊ पुलिस नेे इस संबंध में सिकंदरा निवासी सपा छात्र नेता विकास यादव को गिरफ्तार किया है. पूछताछ के बाद प्रिंटिंग प्रेस के मालिक और एक कर्मचारी को भी गिरफ्तार कर लिया गया.   

आगरा में 5 साल की मासूम का रेप करने के आरोप में जेल, इलाके में तनाव, पीएसी तैनात

गौरतलब है कि 26 अगस्त को लखनऊ में मुख्यमंत्री कार्यालय के आस-पास कई प्रमुख जगहों पर सीएम योगी के गलत पोस्टर चिपकाए गए थे. इन पोस्टरों में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को ब्राह्मणों पर फरसे से हमला करते और पूर्व सीएम अखिलेश यादव को ब्राह्मणों का रक्षक दिखाया गया था. इस पोस्टर पर मुद्रक के नाम की जगह विकास यादव प्रदेश सचिव सपा छात्र सभा लिखा था. इसमें एक फोटो भी लगी थी.

इश्क में उजड़े दो परिवार,शादीशुदा औरत ने विवाहित प्रेमी संग दी ट्रेन से कटकर जान

लखनऊ के हजरतगंज थाने में तैनात दरोगा कृष्णकांत सिंह ने इस संबंध में सपा छात्र नेता विकास यादव के खिलाफ केस दर्ज कराया था. हालांकि उस समय तक पुलिस को यह नहीं मालूम था कि विकास यादव कहां का रहने वाला है. लखनऊ पुलिस ने पोस्टर पर लगी उसकी फोटो को देखकर सोशल मीडिया की मदद ली और उसकी तलाश शुरू की. 

शुक्रवार देर रात लखनऊ पुलिस ने विकास यादव को गिरफ्तार कर लिया. पूछताछ विकास ने बताया कि पोस्टर उसने आगरा के प्रिंटिंग प्रेस संजय प्लेस में छपवाए थे. फिर लखनऊ पुलिस की एक टीम ने शनिवार को संजय प्लेस में दबिश दी. इस दौरान संबंधित हरिपर्वत थाने की पुलिस भी लखनऊ पुलिस टीम के साथ रही. पुलिस ने प्रिंटिंग प्रेस मालिक राजेंद्र उर्फ बॉबी और उसके कर्मचारी आसिफ को गिरफ्तार किया जहां आरोपियों ने पूछताछ में पोस्टर छापने की बात कबूली.

आगरा: ग्राहक बनकर दिए एक हजार एडवांस और लूटकर ले गए लाखों का सोना

पुलिस ने बताया है कि 1600 रुपये में विकास यादव ने दस रंगीन पोस्टर छपवाए थे. वह लखनऊ में पोस्टर लगाकर मीडिया की सुर्खियों में आना चाहता था. पुलिस के बताया कि पोस्टर को कंप्यूटर पर आसिफ ने डिजाइन किया था. उसे विकास ने सिर्फ इतना बताया था कि वह पोस्टर के जरिए क्या संदेश देना चाहता है. अब लखनऊ पुलिस दोनों आरोपियों को अपने साथ ले गई है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें