आगरा

आगरा: शराब को नहीं थे पैसे, बड़ी बेरहमी से रिक्शा चालक को मार डाला

Smart News Team, Last updated: 02/08/2020 04:43 PM IST
  • आगरा पुलिस ने मयूरी रिक्शा चालक ऋतिक हत्याकांड का खुलासा कर दिया है. इस वारदात को अंजाम शराब पीने के लिए पैसे न होने की वजह दिया गया था.
प्रतीकात्मक तस्वीर

आगरा. ताजनगरी के जगदीशपुरा पुलिस ने मयूरी रिक्शा चालक ऋतिक हत्याकांड का शुक्रवार को खुलासा कर दिया है. रिक्शा चालक की हत्या दो बेलदारों ने शराब के लिए की थी. आरोपियों ने पहले ई रिक्शा चालक ने गला घोंटा और उसके बाद चाकू से गोद दिया. इसके बाद दोनों आरोपियों ने लाश को चादर में बांधा और तार लपेटकर एक फैक्टरी के पीछे फेंक दिया था. पुलिस ने आरोपियों के पास से लूटा गया ई रिक्शा और वारदात में प्रयुक्त चाकू बरामद किया है.

एसपी सिटी बोत्रे रोहन प्रमोद के अनुसार, पुलिस को 21 जुलाई की रात ओम फैक्टरी के पीछे एक अज्ञात व्यक्ति का शव पड़ मिला था. अज्ञात शव की पहचान ई रिक्शा चालक ऋतिक (17) के रूप में की गई. वह जयभारत कालोनी, इटावा का निवासी था और जिले के जगदीशपुरा क्षेत्र के भीमनगर में आकर रहने लगा था.

सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या को किया गया रीक्रिएट, बारीकी से सबूत जुटा रही SIT

पुलिस घटना के बाद वारदात की जगह के आसपास के सीसीटीवी कैमरे खंगाल रही थी. फुटेज से कई अहम सुराग मिले. जिस जगह शव फेंका गया वहां एक ऑटो नजर आया. फुटेज से पुलिस ने नंबर निकाल लिया. फिर खोजबीन की और सचिन और राजाबाबू को गिरफ्तार कर लिया. ये बेलदारी का काम करते थे. जुर्म कबूल कर लिया है. दोनों आरोपियों को जेल भेज दिया गया है.

आखिर क्यों की हत्या

सचिन और राजाबाबू को शराब पीने की लत है लेकिन लॉकडाउन में काम धंधा बंद होने की वजह से कर्जा हो गया. अब ना कर्जा चुकाने के पैसे थे ना शराब के इसलिए इन्होंने लूट का इरादा बनाया था जो एक हत्या के जुर्म में तब्दील हो गया.

अन्य खबरें