घर पर नौकरी बताकर जेब काटने निकलते थे तीनों शातिर, रोज का टारगेट- 5 हजार रुपये

Smart News Team, Last updated: 13/10/2020 11:37 PM IST
  • आगरा पुलिस के हाथ तीन ऐसे प्रोफेशनल जेबकतरे हाथ लगे हैं जो घर पर नौकरी का कहकर लोगों की जेब काटने का काम कर रहे थे. इतना ही नहीं, वे हर दिन के पांच हजार रुपये कमाने का टारगेट भी रखते थे.
नौकरी बताकर घर से निकलते थे शातिर जेबकतरे, पांच हजार रोज का टारगेट

आगरा. ताजनगरी के फाउंड्री नगर से पुलिस ने तीन जेबकतरों को गिरफ्तार किया जिन्होंने पूछताछ में कई राज खोले. उन्होंने बताया कि वे हर रोज का पांच हजार रपये का टारगेट लेकर घर से निकलते थे. घरवालों को बताया था कि वे एक फैक्टरी में काम करते हैं. पुलिस को तीनों के पास से नशीला पाउडर बरामद हुआ. तीनों आरोपियों को जेल भेजा जा चुका है.

मालूम हो कि सोमवार को पुलिस ने फिरोजाबाद के जेबकतरे आफताब और उसके दो साथी माजिद और जीशान को गिरफ्तार किया था. इस दौरान मारपीट भी हुई थी. यहां तक की एक दारोगा की वर्दी तक भी फट गई थी.

पति ने पहले मुस्लिम बनाया फिर भाग गया सऊदी, पत्नी ने विधानसभा के सामने लगा ली आग

इंस्पेक्टर एत्माद्दौला विनोद कुमार ने बताया कि इस गिरोह का सरगना आफताब है जो बेरोजगार युवाओं को जाल में फंसाकर जेबकटी की ट्रेनिंग देता है. आफताब का मानना है कि गिरोह में जितने ज्यादा मेंबर होंगे उतना ही हिस्सा ज्यादा आएगा.

सावधान! फेसबुक पर कपल्स चैलेंज पड़ सकता है महंगा, पुलिस ने जारी की एडवाइजरी

पुलिस पूछताछ में आरोपियों ने बताया कि वे हर सुबह आगरा आ जाते थे और वाहनों में सफर करते थे. शिकार नहीं मिले तो मथुरा तक भी चले जाते. फिरोजाबाद में वारदात करने से बचते जिससे स्थानीय पुलिस परेशान न करे. नशीला पाउडर सवारियों को बेहोश करने के लिए इस्तेमाल किया जाता.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें