धोखाधड़ी केस: बिल्डर हरिओम दीक्षित और उनकी पत्नी को आगरा पुलिस ने किया गिरफ्तार

Smart News Team, Last updated: 02/10/2020 12:31 PM IST
एसएसपी ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि गायत्री बिल्डर एवं डेवलपर्स के मालिक हरिओम दीक्षित और उनकी पत्नी कल्याणी दीक्षित को हिरासत में लिया गया है.  पुलिस उनको कोर्ट में पेश करेगी. आईजी रेंज ए सतीश गणेश ने बिल्डरों के खिलाफ कोई कारवाई नहीं करने पर थाना प्रभारियों को भी फटकार लगाई है.
प्रतीकात्मक फोटो

आगरा. गायत्री बिल्डर एवं डेवलपर्स के मालिक हरिओम दीक्षित और उनकी पत्नी कल्याणी दीक्षित को नोएडा से आगरा पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया गया है. दो कंपनियों के मालिक इन दोनों के खिलाफ धोखाधड़ी के नौ मुकदमे दर्ज हैं. दोनों कई दिनों से फरार थे इसलिए हरीपर्वत, न्यू आगरा और सिकंदरा थाने की पुलिस कई दिनों बिल्डर की तलाश में जुटी हुई थी. अब पुलिस दोनों से पूछताछ कर रही है. सबूतों के आधार पर इन दोनों पर कानूनी कार्रवाई की जाएगी. 

जैसे कि पुलिस ने जानकारी दी है हरिओम दीक्षित ने गायत्री डेवलपर्स और कल्याणी स्टोर एंड हाउसिंग नाम से दो कंपनी बनाई थीं. गायत्री डेवलपर्स के मालिक वह खुद हैं जबकि कल्याणी स्टोर एंड हाउसिंग में उनकी पत्नी डायरेक्टर हैं. आरोपित बिल्डर के खिलाफ दर्ज मुकदमों में पीड़ितों का आरोप है कि बुकिंग कराने पर भी फ्लैट नहीं मिला. भविष्य में कब तक मिलेगा इसकी भी कोई सूचना नहीं दी जाती. बिल्डर ने जो चेक दिये थे  वे बाउंस हो गए. कुछ मामलों में आरोप है कि उनके नाम से जो फ्लैट बुक किया गया था वह आगे किसी और को बेच दिया गया है.

आगरा: महीनों से नकली इंजन ऑयल हो रहे थे तैयार, 2 गिरफ्तार, 6 फरार

एसएसपी ने मामले की जानकारी देते हुए बताया कि गायत्री बिल्डर एवं डेवलपर्स के मालिक हरिओम दीक्षित और उनकी पत्नी कल्याणी दीक्षित को हिरासत में लिया गया है. उन्हें जल्द ही पुलिस कोर्ट में पेश करेगी. आईजी रेंज ए. सतीश गणेश ने बिल्डरों के खिलाफ कोई कारवाई नहीं करने पर थाना प्रभारियों को भी फटकार लगाई है. बिल्डरों पर दो साल से 40 मुकदमों दर्ज है जिनमें कोई कार्रवाई नहीं हुई है इस पर थाना प्रभारियों से पूछा गया कि बिल्डरों पर मेहरबान क्यों हैं.

हाथरस कांड के विरोध में आगरा के सफाई कर्मचारियों की हड़ताल, सफाई व्यवस्था ठप

इन बिल्डरों की सूची में हरिओम दीक्षित का भी नाम शामिल था. इसके साथ ही मथुरा के कल्पतरु बिल्डर के खिलाफ भी कई मुकदमे दर्ज हैं. वहीं दो दर्जन से अधिक मुकदमों में जिनमें 30 से अधिक अभियुक्त हैं. पुलिस की कार्रवाई का अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि उन में से अभी तक एक को भी नहीं पकड़ा गया है. इस पर  अभी तक पीड़ितों के बयान तक दर्ज नहीं किया गया है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें