आगराः एक कुंतल चांदी लूटने आए गिरोह का पर्दाफाश, मुठभेड़ में कई गिरफ्तार

Smart News Team, Last updated: 23/08/2020 07:05 AM IST
  • आगरा के कैलाशपुरी मार्ग पर चांदी लूटने आए बदमाशों और पुलिस के बीच मुठभेड़ हुई में कई बदमाश गिरफ्तार हुए. बदमाश सिर्फ साढ़े तीन लाख की नहीं बल्कि एक कुंतल चांदी की लूट के मकसद से आए थे.
आगरा चांदी लूटने वाले गिरोह का पर्दाफाश.

आगरा. ताजनगरी के कैलाशपुरी मार्ग पर पुलिस मुठभेड़ में चांदी लूटने आए बदमाशों को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने बताया कि वे सिर्फ साढ़े तीन लाख रुपये लूटने नहीं आए थे. एटा और मैनपुरी के बदमाशों का गैंग आगरा में एक कुंतल चांदी की लूट के लिए आया था.

बताया जा रहा है कि गैंग में डेढ़ दर्जन से अधिक सदस्य हैं. फरार बदमाशों के बारे में पुलिस पूछताछ कर रही है. पुलिस को इनके बारे में जानकारी मिल गई है। पुलिस उनकी तलाश में जगह-जगह दबिश दे रही है. पुलिस ने बताया कि गिरफ्तार बदमाशों को जेल भेज दिया गया हैं.

एटा के पिलुआ थाना क्षेत्र के निवासी ट्रांसपोर्टर जय सिंह को बदमाशों ने लूटने की योजना बनाई थी. उससे पहले कैलाशपुरी-मदिया कटरा रोड पर पुलिस और बदमाशों के बीच में मुठभेड़ हो गई, जहां लोकेंद्र यादव नामक बदमाश को गोली लग गई थी. पुलिस ने बदमाश लोकेंद्र यादव, मनोज उर्फ भीमा और मोहन सहाय को गिरफ्तार किया था. 

डॉ. योगिता मर्डर केस: आगरा में जेल गए डॉक्टरों में विवेक तिवारी सबसे खतरनाक

जानकारी के अनुसार बदमाशों के तीन साथी मौके से फरार हो गए थे. पुलिस की पूछताछ में बदमाशों ने जानकारी दी है कि उनके गिरोह में एक दर्जन से ज्यादा लोग हैं। बदमाश चांदी कारोबारियों को अपना निशाना बनाते थे, वे उन्हें लूटते थे. 

आगरा सेंट्रल जेल में उम्र कैद की सजा काट रहे 3 कैदियों की दया याचिका मंजूर, रिहा

बदमाशों ने बताया कि उनका गैंग सिर्फ साढ़े तीन लाख रुपये की चोरी करने नहीं आया था. उनकी योजना आगरा में एक कुंतल चांदी लूटनी की थी. इसी कारण से गैंग के एक दर्जन से ज्यादा लोग आगरा आए थे. संयोग से पुलिस से उनकी मुठभेड़ हो गई. वहीं, कुछ बदमाश भागने में सफल हो गए थे. पुलिस इस पूरे मामले की जांच कर रही है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें