आगरा जन सेवा केंद्र लूट मामले का खुलासा, 4 आरोपी पुलिस की गिरफ्त में

Smart News Team, Last updated: Wed, 21st Jul 2021, 9:58 AM IST
  • आगरा में बीते 26 जून को जन सेवा केंद्र में 85 हजार के लूट मामले में आगरा की पुलिस ने चार आरोपियों को गिरफ्तार किया है. पुलिस की जानकारी के अनुसार ये चारों आरोपी आपस में रिश्तेदार भी है. पुलिस ने चारों आरोपियों के पास से 65 हजार नगद, बाइक, तमंचा और कारतूस बरामद किया है.
पुलिस की गिरफ्त में 4 आरोपी.

आगरा : बीते महीने जून के 26 तारीख को आगरा के सैया थाना क्षेत्र के एक गांव में बने जन सेवा केंद्र में चाकू और तमंचे के दम पर नगद लूट मामले का पुलिस प्रशासन ने खुलासा कर दिया है. पुलिस के अधिकारियों ने मीडिया से बात करते हुए चारों आरोपियों को सबके सामने भी लाया. पुलिस ने चारों आरोपियों को बीते सोमवार के दिन केसरी तिराहे हनुमान मंदिर के पास से गिरफ्तार किया है. गिरफ्तार किए गए आरोपियों के पास से पुलिस प्रशासन ने 65 हजार नगद रुपए, तीन तमंचे छह कारतूस और एक बाइक बरामद की है. इन अपराधियों को पकड़ने के दौरान की गई कार्रवाई में पुलिस 6 से अधिक लोग शामिल थे.

गिरफ्तार किए गए आरोपियों से जब पुलिस ने पूछताछ किया तो पता चला कि इस लूट की पूरी प्लानिंग तैयार करने वाला जसपाल है. यशपाल मूल रूप से ताहरपुर सैया का रहने वाला है. मुख्य आरोपी लूट वाले दिन नोएडा से फोन के जरिए इस पूरे कांड में शामिल था. जानकारी के अनुसार यशपाल लूट के बाद भाग रहे अपने साथियों को फोन पर भागने के रास्ते भी बता रहा था. इस मामले में अन्य तीन अन्य जिनमें नेमीचंद कुशवाहा, आकाश जो जगदीश पुरा का रहने वाला और नरेश कुशवाहा जो डौकी का रहने वालों ने लूट की घटना को अंजाम दिया था. पुलिस ने एक चौकाने वाली बात यह बताई कि चारों आरोपी आपस में रिश्तेदार भी हैं.

आगरा: इनामी बदमाशों का आतंक, डॉ. अपहरण और मणप्पुरम सोना लूट के आरोपियों की तलाश

पकड़े गए चारों आरोपी लूट से पहले छोटा काम करते थे. इनमें से दो तो फास्ट फूड और मिठाई बनाने का काम करते थे. इसी दौरान इस लूट की साजिश रचने वाले यशपाल के साथ लूट करने के लिए शामिल हो गए. अपने प्लानिंग के तहत दो आरोपी जन सेवा केंद्र में 26 तारीख को अकाउंट खुलवाने के लिए घुसे. कुछ देर बाद ही उन्होंने चाकू आ तमंचे के बल पर काउंटर से 85 हजार लूट लिया. इसके बाद वहां से फरार हो गए. मौके पर पहुंची पुलिस को सीसीटीवी फुटेज में बदमाश के आने का वीडियो भी मिला था. इसके बाद से ही पुलिस प्रशासन आरोपियों को खोजने के लिए लगी हुई थी. इस लूट मामले का मुकदमा बृजपाल सिंह ने लिखवाया था.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें