आगरा

आगरा: कोरोना काल में रेलवे ने की खर्चों में कटौती, इन कर्मचारियों पर गिरेगी गाज

Smart News Team, Last updated: 25/06/2020 04:07 PM IST
  • कोरोना काल में रेलवे को भारी नुकसान उठाना पड़ रहा है। ऐसे में विभाग जरूरी और गैर जरूरी सभी खर्चों में कटौती कर रहा है।
कोरोना काल में रेलवे को नहीं हो रही कमाई तो अब खर्चों में कटौती की शुरुआत कर दी है।

आगरा. कोरोना लॉकडाउन में रेलवे की कमाई पर 50 प्रतिशत का असर पड़ा है जिसे देखते हुए अब रेलवे ने अपने खर्चों पर कटौती शुरू कर दी है। कटौती की शुरुआत रेलवे के रिटायर कर्मचारियों पर पड़ सकती है। दरअसल विभाग ने रिटायर रेल अधिकारियों को वापस रखने के आदेश पर रोक लगा दी है। साथ ही जल्द ही रिटायर कर्मचारियों को हटाने की तैयारी की खबर है। वहीं रेलवे दफ्तरों में ज्यादा से ज्यादा काम डिजिटल प्लेटफार्म पर करने के आदेश दिए गए हैं।

गौरतलब है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लॉकडाउन के ऐलान के बाद बीते 24 मार्च से रेलवे की नियमित ट्रेनें बंद हैं। पिछली 12 मई से सिर्फ कुछ एसी स्पेशल और बीते एक जून से करीब 200 स्पेशल ट्रेनों के अलावा कोई दूसरी ट्रेन ट्रैक पर नहीं है। कोरोना को देखते हुए 30 जून तक सभी ट्रेनें निलंबित हैं।

रेलवे सूत्रों का इस बाबत कहना है कि कोरोना काल में रेलवे की कमाई 58 प्रतिशत तक घट गई है। ऐसे में रेलवे ने खर्चों में कटौती शुरू की है। पूर्व में रखे गए रिटायर रेल अधिकारियों को हटा दिया गया है। रिटायर कर्मचारियों पर भी गाज गिर सकती है।

मालून हो कि आगरा मंडल में 200 से ज्यादा रिटायर अधिकारी और कर्मचारी तैनात हैं। ऐसे में अब रेलने इनकी जगह आउटसोर्स कंपनियों के जरिए कम वेतन वाले कर्मचारी रखेगी। वहीं विभाग की ओर से जारी देश में ऑफिस के ज्यादातर काम फाइलों के बजाय कंप्यूटर में सेव रखने को कहा है। सिर्फ जरूरी स्टेशनरी का सामान ही खरीदने का आदेश है। साथ ही सभी रेलवे जोनों से गैर जरूरी खर्च घटाने को भी कहा गया है।

अन्य खबरें