आगरा: सेवानिवृत्त पुलिसकर्मी को जाल में फंसाने के लिए झारखंड में रची गई साजिश

Smart News Team, Last updated: 05/12/2020 11:08 PM IST
  • साइबर अपराधियों द्वारा अग्निशमन विभाग से सेवानिवृत्त हुए उप निरीक्षक श्रीकिशन के खाते से 26 लाख रुपये निकाल लिये. साइबर अपाधियों ने उन्हें ट्रेजरी अफसर बनकर कॉल किया था और उनसे खाते से 26 लाख रुपये लूट लिये.
आगरा साइबर क्राइम के तार झारखंड से जुड़े

आगरा: साइबर अपराधियों का खतरा दिन पर दिन बढ़ता ही जा रहा है. हैरान करने वाली बात तो यह है कि सेवानिवृत्त पुलिस अधिकारी भी इनसे सुरक्षित नहीं रहे हैं. दरअसल, हाल ही में साइबर अपराधियों द्वारा अग्निशमन विभाग से सेवानिवृत्त हुए उप निरीक्षक श्रीकिशन के खाते से 26 लाख रुपये निकाल लिये. साइबर अपाधियों ने उन्हें ट्रेजरी अफसर बनकर कॉल किया था और उनसे खाते की जानकारी व ओटीपी संख्या पूछकर नेट बैंकिंग के जरिए पैसे निकाल लिये. उन्हें फंसाने के लिए झारखंड के नंबर से कॉल की गई थी.

इस मामले को लेकर रेंज साइबर सेल सेवानिवृत्त पुलिस कर्मियों को निशाना बनाने वाले गिरोह की जांच पड़ताल में लगी हुई है. जांच के दौरान ही साइबर सेल के सामने यह मामला सामने आया है. बताया जा रहा है कि श्रीकिशन आगरा अग्निशमन विभाग में तैनात थे और कुछ ही दिनों पहले वह सेवानिवृत्त हुए थे. उनका घर फिरोजाबाद के सुहाग नगर में है. श्रीकिशन के बारे में बात करते हुए आगरा रेंज साइबर सेल के प्रभारी निरीक्षक शैलेष सिंह ने बताया कि कुछ ही दिनों पहले उनके खाते में फंड सहित अन्य देय राशि आई थी.

आगरा-दिल्ली हाइवे पर लगा 40 किमी लंबा जाम, हजारों वाहन फंसे

साइबर अपाधियों ने खुद को ट्रेजरी बताकर उनसे संपर्क किया, पेशंन जल्दी दिलाने का लालच दिया और खाते की जानकारी भी ले ली. इसके बाद नेट बैंकिंग के जरिए उनके खाते से रकम भी निकाल ली गई. जांच में सामने आया है कि अपराधी अब तक 40 से अधिक सेवानिवृत्त पुलिसकर्मियों को फोन कर चुके हैं, लेकिन अभी तक उनके झांसे में केवल 4 ही लोग आए हैं. जांच में यह भी सामने आया है कि जिस नंबर से कॉल की गई थी, उसकी लोकेशन झारखंड राज्य में शो हो रही थी.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें