आगरा लूट और हत्याकांड में ट्रांसपोर्ट मालिक अरेस्ट, पुलिस 40 लाख खोज की में जुटी

Smart News Team, Last updated: 06/09/2020 09:13 AM IST
  • आगरा के कमलानगर में हुए ललित कठपाल हत्या और लूट कांड में पुलिस ने हरिओम ट्रांसपोर्ट्स के मालिक छोटेलाल को गिरफ्तार कर किया. पुलिस ट्रांसपोर्ट मालिक से पूछताछ कर लूट के पैसे बरामद करने की खोज में लगी.
आगरा लूटपाट और हत्याकांड मामले में पुलिस ने ट्रांसपोर्ट मालिक को गिरफ्तार किया.

आगरा. ताजनगरी के कमला नगर में व्यापारी ललित काटकर की हत्या और लूटपाट में पुलिस ने हरीओम ट्रांसपोर्ट के मालिक छोटे लाल को गिरफ्तार कर लिया है. पुलिस छोटेलाल से पूछताछ कर लूट की रकम बरामद करने का प्रयास कर रही है. दरअसल 26 अगस्त को कमला नगर के रश्मि नगर में व्यापारी ललित काठपाल की हत्या कर दी गई थी. बदमाशों ने 40 लाख रुपए की लूट भी की थी.

इस घटना को अंजाम छोटेलाल के बेटे प्रमोद, उसके चचेरे भाई फौरन सिंह, दीपक और राजकरण ने दिया था.शुक्रवार की शाम पुलिस ने चारों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया था. पकड़े गए बदमाशों से 26 लाख बरामद हुए थे. पुलिस और बदमाशों में सुबह 5:00 बजे वाटर वर्क्स सर्विस रोड पर मुठभेड़ हुई थी. बदमाशों ने बाइक से भागने की कोशिश की लेकिन पुलिस ने गिरा दिया और इसमें दीपक को एक पैर में गोली भी लगी. 

ब्रांडेड इंजन ऑयल के नाम पर मिलावटी तेल का गोरखधंधा, आगरा में 8 गिरफ्तार

दरअसल इस लूट और हत्या के पीछे फौरन सिंह की साजिश थी. उसे ललित के भाई से लूट करनी थी. ललित का भाई रिंकू रोज गुटका लेकर ओम ट्रांसपोर्ट कंपनी के कैंटर में अलीगढ़ जाता था. इसकी जानकारी होने पर फौरन सिंह ने वारदात की साजिश रची थी.  26 अगस्त की शाम को ललित अपने भाई रिंकू के साथ बाइक पर थे जब उनकी हत्या हुई थी.

इसके बाद प्रमोद ने लूट के बारे में अपने पिता छोटेलाल को दूसरे दिन बताया था कि उसने फौरन सिंह के साथ मिलकर एक घटना की है लेकिन वह खुद मौके पर नहीं था. उसने अपने हिस्से की 10 लाख रुपए पिता को दे दिए ताकि वह अपना कर्ज चुका सके लेकिन पुलिस ने जब शुक्रवार को छोटेलाल की गिरफ्तारी के लिए दबिश देना शुरू किया.  

आगरा में छपे थे CM योगी के आपत्तिजनक पोस्टर, सपा छात्र नेता समेत 3 अरेस्ट

तब वह भाग गया था लेकिन शनिवार को पुलिस ने छोटेलाल को पकड़ लिया अभी तक उसके पास से सिर्फ 10 लाख मिले हैं. शेष रकम बरामदगी के लिए पुलिस उससे लगातार पूछताछ कर रही है. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें