कोरोना काल: बच्चों की फीस वसूलने को स्कूलों का प्लान B, जानकर दंग रह जाएंगे

Smart News Team, Last updated: 19/07/2020 09:59 PM IST
  • कोरोना काल में बच्चों के परिजनों से फीस निकलवाने के आगरा के एक स्कूल ने नई तरकीब सोची है।
फीस जमा करवाने की नई तरकीब

आगरा. कोरोना काल में बच्चों के परिजन स्कूल फीस देने के लिए किसी भी हाल में राजी नहीं है। वहीं इस समय में शासन के भी आदेश हैं कि कोई स्कूल फीस न भरी जाने पर बच्चों का नाम नहीं काट सकता है। इसी को देखते हुए अब स्कूल बच्चों के माता-पिता से मासिक फीस निकालने के लिए नई-नई तकरीब जुटा रहे हैं। ताजा मामला ताजनगरी आगरा के एक स्कूल का है जिसके बारे में जानकर आप भी हैरान रह जाएंगे।

ताजनगरी का एक बड़ा स्कूल बच्चों के अभिभावकों को ई-मेल भेजकर अब उनकी आय के साधन जुटाने की कोशिश कर रहा है ताकि वे फीस को वसूलने का आधार तय कर सकें। 

आगरा: मकान को लेकर नाराज था भतीजा, जरा सी बात पर कर दी चाचा की बेरहमी से हत्या

दरअसल शासन ने बच्चों के नाम न काटने के साथ ये भी अपील की थी कि जो लोग सक्षम हैं वे अपने बच्चों की फीस भर दें लेकिन अधिकतर परिजन इसपर राजी नहीं हुए।

हरियाणा में भेष बदलकर 18 साल से छिपा था आगरा का गैंगस्टर, पुलिस ने धर दबोचा

अब आगरा के इस बड़े स्कूल ने ई-मेल भेजकर अभिभावकों से पिता और माता का कारोबार और उनका पैन नंबर भी पूछा है। साथ ही चार विकल्प दिए हैं जिनमें से अभिभावकों को एक विकल्प चुनना है। पहला विकल्प ड्यू डेट पर फीस भरने, दूसरा बैंक के माध्यम से मासिक किश्त, तीसरा तिमाही और चौथा विकल्प पूरी व किश्तों में फीस न चुका पाने का दिया गया है।

जुलाई में कहर बरपा रहा कोरोना, हर दिन मिल रहे 14 मरीज, महज 18 दिनों में 258 केस

जो फीस नहीं दे सकते हैं वे परिजन स्कूल को ई-मेल भेजकर अपनी आर्थिक स्थिति का विवरण देंगे जिसके बाद स्कूल फैसला करेगा। स्कूल ने परिजनों से इस पूरे फॉर्म को 24 जुलाई तक भरने के निर्देश दिए हैं।

अन्य खबरें