आगरा: लंबे इंतजार के बाद 19 अक्टूबर से खुलेंगे स्कूल, ये सावधानियां होंगी जरूरी

Smart News Team, Last updated: 13/10/2020 10:48 PM IST
  • ताजनगरी आगरा में कोरोना काल में 19 अक्टूबर से स्कूल खुलने जा रहे हैं. शासन ने इस संबंध में गाइडलाइन जारी किया है. इसके अनुसार स्कूल में सभी को सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करना होगा. छात्र, शिक्षक और स्टाफ को मास्क लगाया अनिवार्य है. वहीं, बच्चों को स्कूल में लंच करने की इजाजत नहीं होगी.
डीआईओएस और स्कूल संचालकों की बैठक

आगरा. कोरोना के बीच ताजनगरी आगरा में 19 अक्टूबर से स्कूल खुलने जा रहे हैं. स्कूल अपने  पर स्तर कोरोना को लेकर सभी तरह की जरूरी तैयारियां कर रहे हैं. हालांकि, 19 अक्टूबर से स्कूल खुलने के बाद भी किसी भी छात्र को माता-पिता की अनुमति के बिना नहीं बुलाया जाएगा. स्कूल खुलने के पहले चरण में सिर्फ बोर्ड एक्जाम के बच्चों की कक्षाओं के संचालन की बात कही गई है. इस दौरान स्कूल खुलने पर छात्रों को स्कूल में लंच बाक्स लाने की अनुमति नहीं होगी. साथी ही कक्षाएं भी सिर्फ दो से ढाई घंटे तक की ही लगाई जाएंगी.

मंगलवार को स्कूल खोलने के संबंध में शासन की ओर से जारी आदेश के बाद जिले के डिएम प्रभु एन सिंह ने स्कूल संगठनों और प्रबंधकों के साथ बैठक की. कलेक्ट्रेट में हुई बैठक में जिलाधिकारी ने स्पष्ट किया कि स्कूल संचालन के लिए शासन की ओर से जारी गाइडलाइन का पालन करना होगा. स्कूल में सोशन डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन करना होगा. स्कूल में छात्रों को लंच की अनुमति नहीं होगी. 

VIDEO: मथुरा के आश्रम में हाथी पर योग करते हुए नीचे गिर पड़े बाबा रामदेव

स्कूल में छात्र, शिक्षक और स्टाफ मास्क के बिना नहीं आएंगे. बैठक में वोसा के प्रदेश अध्यक्ष राहुल राज, डॉ. गिरधर शर्मा, प्रद्युम्न चतुर्वेदी, राजपाल सोलंकी, राजू डेनियल, मोहित बंसल सहित विभिन्न प्रबंधक मौजूद रहे.

आगरा चांदी चोरी का खुलासा, पुराने कारीगर ने किया था 19 किलो माल साफ, 2 अरेस्ट

इस संबंध में अप्सा अध्यक्ष डॉ. सुशील गुप्ता ने कहा कि स्कूल 19 अक्तूबर तक व्यवस्थाओं को अंतिम रूप दे देंगे. इसके बाद 20 अक्तूबर से स्कूल खोले जाएंगे. स्कूल में पहले चरण में सिर्फ 10वींं और 12वीं के छात्रों को बुलाया जाएगा. इसके एक हफ्ते बाद 9वीं और 11वीं की कक्षाएं संचालित की जाएंगी. उनके अनुसार बैठक में सुझाव दिया गया कि स्कूल इस समय पूरी तरह से खाली हैं. ऐसे में दो पालियों के स्थान पर एक साथ छात्रों को बुलाया जाए, लेकिन सोशल डिस्टेंसिंग के मानक के अनुसार ही छात्रों को कक्षा में बैठाया जाएगा.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें