आगरा जेल की पहल, इमरजेंसी में पैनिक अलार्म बजाकर कैदी मांग सकेंगे मदद

Smart News Team, Last updated: Thu, 2nd Jul 2020, 3:07 PM IST
  • आगरा जेल में कैदियों के लिए पैनिक अलार्म लगवाएं गए जिससे आपास स्थिति होने पर वे अलार्म को बजाकर मदद की गुहार लगा सकेंगे।
जेल में कैदियों के लिए लगाए गए पैनिक अलार्म

आगरा. जेल के अंदर कई बार कैदियों के साथ आपात घटना हो जाती है और जेल प्रशासन को मालूम होने तक देर हो जाती है। ऐसे में आगरा जेल में आपात स्थिति में कैदियों की मदद के लिए सभी बैरक में पैनिक अलार्म लगाए गए हैं। आगरा जेल ऐसा करने वाली प्रदेश की पहली जेल बन गई है। अब किसी बंदी की अचानक हालत बिगड़ने या झगड़ा होने की हालत में इस अलार्म को बजाकर तत्काल मदद की गुहार लगाई जा सकती है। बुधवार को डीआईजी कारागार लव कुमार ने जिला जेल में लगाए गए अलार्म का शुभारंभ किया।

गौरतलब है कि पहले कैदियों को आपात स्थिति में तैनात स्टाफ से मदद की गुहार के लिए शोर मचाना पड़ता था। काफी समय से जिला जेल अधीक्षक शशिकांत मिश्रा कुछ नई व्यवस्था करने की दिशा में प्रयास कर रहे थे। जिसके बाद जिला जेल में वायरलेस पैनिक अलार्म सिस्टम लगाया गया। यह अलार्म बेंगलुरू की कंपनी फार्बिक्स सेमिकान इंडिया प्राइवेट लिमिटेड की ओर से स्थापित किए गए हैं।

जेल अधीक्षक शशिकांत मिश्रा ने कहा कि पैनिक अलार्म सिस्टम रेडियो फ्रीक्वेंसी पर काम करता है। इसलिए ना या जाम होगा और न ही आसानी से हैक किया जा सकेगा। मोबाइल जैमर एक्टिव होने पर भी यह अलार्म काम करेगा। इसे बैरकों के ऊपर 20 ट्रांसमीटर फिक्स करके 32 वायरलेस बटन बैरकों के अंदर लगाए गए हैं। इनका इस्तेमाल कैदी किसी भी आपात स्थिति जैसे बीमारी, मारपीट आदि परिस्थिति में कर सकते हैं।

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें