आगरा: अनलॉक-5 में एसिड अटैक फाइटर्स का ‘शीरोज हैंगआउट’ कैफे आज से खुलेगा

Smart News Team, Last updated: Tue, 20th Oct 2020, 7:11 AM IST
  • आगरा में अनलॉक-5 के दौरान एसिड अटैक फाइटर्स द्वारा संचालित ‘शीरोज हैंगआउट’ कैफे आज से खुलेगा. कोविड-19 के गाइडलाइंस को ध्यान में रखते हुए लोगों को कैफे में प्रवेश दिया जाएगा. 
कैफे शीरोज हैंगआउट आज से खुलेगा.

आगरा. आगरा में एसिड अटैक फाइटर्स की ओर से चलाई जा रही कैफे शीरोज हैंगआउट कोरोना लॉकडाउन के कारण लंबे समय से बंद था. आज से इस कैफे को खोला जाएगा. करीब 7 महीने बाद कैफे खोला जाएगा. ऐसे में कोविड-19 के गाइडलाइंस को ध्यान में रखते हुए लोगों को कैफे में प्रवेश दिया जाएगा. 

छांव फाउंडेशन की तरफ से 10 दिसंबर 2014 को फतेहाबाद रोड स्थित कैफे शीरोज हैंगआउट को खोला गया था. विश्व में एकमात्र इस कैफे को एसिड अटैक सर्वाइवर द्वारा चलाया जाता हैं. शुरुआत में पांच एसिड सर्वाइवर्स कैफे का संचालन करती थी. इसके बाद विश्व में इस कैफे ने अपनी अलग पहचान स्थापित कर ली. फिलहाल इस कैफे को दस एसिड सर्वाइवर्स द्वारा संचालित किया जा रहा हैं. कोरोना महामारी और लॉकडाउन के कारण 19 मार्च 2020 को इस कैफे को बंद कर दिया गया था. 

आगरा में चिकित्सक सहित 56 लोग हुए कोरोना संक्रमित, अब तक 136 लोगों की मौत

फाउंडेशन के डायरेक्टर आशीष शुक्ला ने कहा कि 20 अक्टूबर यानी आज से कैफे खोला जा रहा है. इस दौरान कोविड-19 के गाइडलाइंस का सख्ती से पालन कराया जाएगा. बता दें कि महिला एवं बाल विकास मंत्रालय भारत सरकार की तरफ से 2016 में शीरोज हैंगआउट कैफे को नारी शक्ति पुरस्कार से नवाजा गया था. उस दौरान इस पुरस्कार को कैफे में कार्यत रूपा ने ग्रहण किया था.

आगरा में शराब सेल्समैन की गोली मारकर हत्या, 7 लाख कैश लूट के लिए मर्डर

फिल्म छपाक के जरिए फाउंडेशन के अभियान और लक्ष्मी के संघर्ष की कहानी को बड़े पर्दे पर दिखाया गया है. इस कैफे में बड़ी-बड़ी हस्तियां आ चुकी हैं. इसमें जर्मनी की प्रथम लेडी, मिस वर्ल्ड ग्रेट ब्रिटेन, इटली के पूर्व प्रधानमंत्री और फेसबुक की गोबल टीम का नाम शामिल हैं. 

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें