आगरा

उपलब्धि: आगरा में पहली बार कोरोना वायरस से संक्रमित मरीज को चढ़ाया प्लाज्मा

Smart News Team, Last updated: 11/07/2020 12:47 PM IST
  • आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज में एक 51 वर्षीय कोरोना से संक्रमित मरीज को पहली बार प्लाज्मा की डोज दी गई है। प्रदेश में ऐसा करने वाला पहला राजकीय मेडिकल कॉलेज बन गया है।
ताजनगरी के एसएन कॉलेज को उपलब्धि

आगरा. ताजनगरी आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज ने कोरोना वायरस के मरीजों का प्लाज्मा थैरेपी से इलाज शुरू कर दिया है। एसएन राजकीय मेडिकल कॉलेज कोरोना काल में ये उपलब्धि हासिल करने वाला राज्य में पहला अस्पताल बन गया है। प्लाज्मा की पहली खुराक एक 51 साल के कोविड-19 पॉजिटिव मरीज को दी गई। एसएन कॉलेज ने आईएमसीआर को दो लोगों का प्लाज्मा से इलाज की अनुमति मांगी थी जिसमें एक अधेड़ और एक युवा मरीज शामिल थे लेकिन सिर्फ एक को ही प्लाज्मा देने की अनुमति मिली।

प्लाज्मा की पहली खुराक लेने वाले 51 वर्षीय मरीज 8 जुलाई को अस्पताल में भर्ती हुए थे। जो डायबिटीज के मरीज भी हैं। उस दौरान उन्हें सांस लेने की दिक्कत थी। साथ ही निमोनिया भी हो गया था। अस्पताल में भर्ती होने से अब तक उन्हें ऑक्सीजन पर रखा जा रहा था। उन्हें प्रति मिनट के हिसाब से पांच लीटर ऑक्सीजन दी जा रही थी।

आईसीएमआर से अनुमति मिलने के बाद डॉक्टरों ने उन्हें गुरुवार दोपहर पहली और शुक्रवार शाम प्लाज्मा की दूसरी डोज चढ़ाई। प्लाज्मा चढ़ाने के बाद उनकी सेहत में तेजी से सुधार आया। देर रात तक उन्हें प्रति मिनट ऑक्सीजन की मात्रा 2 लीटर हो गई। शनिवार को ऑक्सीजन का स्तर और कम करके देखा जाएगा। अस्पताल ने उनकी पुरानी बीमारियों को भी चेक किया जिनमें भी सुधार आया है।

आपको बता दें कि जिलाधिकारी प्रभु एन सिंह ने एसएनएमसी को 10 प्लाज्मा किट उपलब्ध कराई हैं। अभी तक अस्पताल प्रशासन समझ नहीं पा रहा था कि किटों का कहां से प्रबंध किया जाए। मरीजों से अनुरोध करने की बात भी उठी। इस बीच शुक्रवार को डीएम साहब ने उनकी परेशानी दूर कर दी।

अन्य खबरें