डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर केस: विवेक तिवारी ने बताया कैसे घर से ले जाकर की हत्या

Smart News Team, Last updated: 20/08/2020 12:12 PM IST
  • डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर केस में आरोपी विवेक तिवारी कबूल कर लिया है कि उसने योगिता की हत्या की. उसने पुलिस को बताया कि कैसे वो योगिता को उसके घर से ले गया और किस तरह उसकी हत्या की.
आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज से पीजी पास कर चुकीं डॉक्टर योगिता गौतम कोविड वार्ड में ड्यूटी पर थीं और हाल ही में एक कोरोना संक्रमित महिला की डिलीवरी कराने के लिए उनकी तारीफ हुई थी.

आगरा. आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज की पीजी पास स्टुडेंट डॉक्टर योगिता गौतम की हत्या करने वाले डॉ विवेक तिवारी ने कबूल कर लिया है और पुलिस को बताया है कि उसने कैसे योगिता को मारा. डॉ विवेक तिवारी योगिता का सीनियर था. दोनों में दोस्ती हुई. लंबे समय से दोनों एक दूसरे को जानते थे. दोनों एक-दूसरे से शादी करना चाहते थे. हालांकि एक समय पर विवेक ने शादी से इंकार कर दिया था क्योंकि पहले वो अपनी बहन की शादी करवाना चाहता था.

विवेक ने बताया कि इस बार योगिता ने उससे शादी से इंकार कर दिया था और अब वो उससे मिलना भी बंद कर रही थी. इस कारण गुस्से में उसने योगिता को मारने का सोचा. उसने बताया कि वो पूरी तैयारी के साथ उरई से आगरा आया. उसके पास गाड़ी में गन और चाकू था. गन उसके पिता की थी जो आगरा के सदर, लोहामंडी थाने में इंस्पेक्टर के पद पर तैनात रहे और बाद में पदोन्नति के बाद डिप्टी एसपी पद से रिटायर हुए थे.

डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर केस: विवेक तिवारी का एकतरफा प्यार, शादी से इनकार, हत्या

विवेक ने बताया कि पहले उसने योगिता को एक आखिरी बार मिलने के लिए बुलाया. उसके घर के बाहर से विवेक ने योगिता को गाड़ी में बिठाया. दोनों प्रतापपुरा चौराहे पहुंचे तो दोनों के बीच झगड़ा और मारपीट हुई. फतेहबाद रोड पर उसने गुस्से में योगिता के घूंसा मारा जिससे वो सिर नीचे करके बैठ गई. तभी विवेक ने योगिता के सिर में गोली दाग दी. फतेहाबाद मार्ग पर गाड़ी तलाते हुए उसने योगिता पर चाकू से भी प्रहार किया ताकि वो ना बचे.

डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर केस: विवेक तिवारी ने भाई और पिता के मर्डर की धमकी दी थी

उसने योगिता के शव को बमरौली कटारा में फेंका और भाग गया. हत्या के बाद उसने पहले गन को कानपुर स्थित अपने घर में जाकर छिपाया और फिर उरई लौट गया. पुलिस को उसकी गाड़ी और चाकू मिल गया है जिनकी फॉरेंसिक जाच करवाई जा रही है. गन बरामद करने के लिए पुलिस की टीम कानपुर गई है.

डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर केस: हाथ में बाल नाखून में खाल, मरने से पहले बहुत लड़ीं

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें