डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर: रात भर योगिता की मां को फोन कर अनजान बना विवेक तिवारी

Smart News Team, Last updated: 20/08/2020 02:24 AM IST
  • आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज की पीजी पास छात्रा डॉक्टर योगिता गौतम के मर्डर केस में आरोपी बनने के बाद पुलिस हिरासत में लिए गए डॉक्टर विवेक तिवारी ने मंगलवार की रात भर योगिता की मां को कई बार फोन करके योगिता की खोज-खबर लेने का ढोंग किया ताकि उस पर कोई शक ना हो. 
डॉक्टर योगिता गौतम के मर्डर केस में आरोपी बनाने के बाद पुलिस ने डॉक्टर विवेक तिवारी को हिरासत में ले लिया है. आगरा में पुलिस विवेक तिवारी से पूछताछ कर रही है.

आगरा. आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज की पीजी पास छात्रा डॉक्टर योगिता गौतम के मर्डर केस में आरोपी और इस वक्त आगरा पुलिस की हिरासत में पूछताछ का सामना कर रहे डॉक्टर विवेक तिवारी ने मंगलवार यानी वारदात की रात योगिता की मां को कई बार फोन किया और ये जताते हुए योगिता की खोज-खबर ली कि वो अपहरण या हत्या से अनजान हैं. वो सच में बेखबर थे या उनको खबर थी लेकिन वो खुद को शक से बचाने के लिए ढोंग कर रहे थे, इसका सच पुलिस की जांच से ही सामने आएगा.

योगिता की फैमिली मंगलवार की रात से ही आगरा में है जो शाम में योगिता का फोन जाने के बाद दिल्ली से पहुंच गए थे. योगिता ने फैमिली को फोन करके शाम में बताया था कि विवेक तिवारी ने उन्हें फोन पर धमकी दी है कि वो योगिता के भाई, पिता को मरवा देगा या गायब करवा देगा और योगिता के साथ-साथ उनके भाई की मेडिकल डिग्री कैंसिल करवा देगा.

आगरा डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर केस: शादी के लिए दबाव देता था विवेक तिवारी

योगिता की फैमिली ने पुलिस को बताया है कि डॉक्टर विवेक तिवारी ने मंगलवार रात तीन बजे से सुबह पांच बजे के बीच योगिता की मां आशा गौतम को कई बार फोन किया. विवेक तिवारी ने उनसे योगिता के बारे में पूछा और यह बताया कि वह बहुत देर से योगिता का नंबर मिला रहा है लेकिन उसका फोन नहीं लग रहा है. विवेक तिवारी ने योगिता की मां से ये भी पूछा कि कोई बात तो नहीं है.

डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर केस: शाम को आगरा में था विवेक तिवारी, हिरासत में

अब पुलिस ये मान रही है कि विवेक तिवारी ने ऐसा इसलिए किया ताकि घरवालों को उस पर कोई शक नहीं हो. उसे इस बात का अंदाजा ही नहीं था कि योगिता ने शाम को ही अपने घर पर फोन करके यह बता दिया था कि विवेक तिवारी उसे धमकी दे रहा है.

पूछताछ शुरू होने से पहले पुलिस पकड़ चुकी है विवेक तिवारी के बयान में झूठ

विवेक तिवारी को जालौन से आगरा लाया गया है जहां वरिष्ठ अधिकारी उनसे पूछताछ कर रहे हैं. लेकिन पूछताछ शुरू होने से पहले ही विवेक तिवारी का झूठ पुलिस ने पकड़ लिया है. विवेक ने कहा था कि वो मंगलवार को आगरा नहीं गया था जबकि उनके मोबाइल का टावर लोकेशन शाम 6 बजे से आगरा का निकला है. 

आगरा एसएन मेडिकल कॉलेज की डॉ. योगिता गौतम की हत्या, सीनियर पर केस

शुरुआत में विवेक तिवारी ने अपनी टाटा नेक्सन कार को लेकर पुलिस को गुमराह किया लेकिन बाद में बता दिया कि कार कानपुर में उनके घर पर लगी है. योगिता के भाई ने पुलिस से कहा था कि योगिता को जिस कार से अगवा किया गया है वो टाटा नेक्सन कार है जो सीसीटीवी में भी कैद हुई है.

डॉक्टर योगिता गौतम की हत्या से पहले चलती कार में संघर्ष और तब मर्डर

अभी तक मिली जानकारी और योगिता के हाथ में बाल और नाखुन में खाल के अंश को देखते हुए पुलिस यही मान रही है कि चलती हुई कार में योगिता ने संघर्ष किया. योगिता के साथ मारपीट हुई और संघर्ष में योगिता ने मारने वाले के बाल खींचे और उसे नोंचा. योगिता के सिर पर किसी भारी चीज से प्रहार किया गया लगता है और वो भारी चीज शराब की बोतल भी हो सकती है. माना जा रहा है कि हत्या के बाद गाड़ी को हाईवे पर रोका गया और शव को सड़क किनारे फेंक दिया गया.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें