आगरा डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर केस: शादी के लिए दबाव देता था आरोपी विवेक तिवारी

Smart News Team, Last updated: Thu, 20th Aug 2020, 1:57 AM IST
  • आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज की पीजी पास स्टुडेंट डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर केस में आरोपी डॉक्टर विवेक तिवारी को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है और उनसे आगरा में पूछताछ चल रही है. तिवारी की कार को कानपुर से जब्त करके आगरा लाया जा रहा है जिससे योगिता को अगवा करने का शक है.
आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज से पीजी पास कर चुकीं डॉक्टर योगिता गौतम कोविड वार्ड में ड्यूटी पर थीं और हाल ही में एक कोरोना संक्रमित महिला की डिलीवरी कराने के लिए उनकी तारीफ हुई थी.

आगरा. आगरा के एसएन मेडिकल कॉलेज की पीजी पास स्टुडेंट डॉक्टर योगिता गौतम के मर्डर केस के आरोपी डॉक्टर विवेक तिवारी पर परिवार ने आरोप लगाया है कि वो योगिता पर शादी के लिए दबाव बना रहे थे. कानपुर के विवेक तिवारी और दिल्ली की योगिता गौतम ने मुरादाबाद के एक मेडिकल कॉलेज से एमबीबीएस किया है और वहां विवेक योगिता से एक साल सीनियर थे.

योगिता की मां ने मीडिया से कहा है कि विवेक तिवारी ने फोन करके योगिता को धमकी दी थी कि वो उसके भाई, पिता को मरवा देगा, गायब करवा देगा, उसकी और उसके भाई की डिग्री कैंसिल करवा देगा. किडनैपिंग विद मर्डर केस के आरोपी डॉक्टर विवेक तिवारी को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है और आगरा में वरिष्ठ पुलिस अधिकारी तिवारी से पूछताछ कर रहे हैं. 

डॉक्टर योगिता गौतम मर्डर केस: शाम को आगरा में था आरोपी विवेक तिवारी

योगिता की हत्या से परिजन सदमे में हैं. ये सारे लोग मंगलवार की रात तभी आगरा आ गए थे जब योगिता ने उन्हें शाम में विवेक के फोन और धमकी की सूचना दी थी. योगिता मंगलवार की शाम से ही लापता थी जिनका शव बुधवार की सुबह बरामद हुआ लेकिन परिजनों को पुलिस ने शाम में ये बताया कि एक अज्ञात शव पोस्टमार्टम हाउस में है, उसकी पहचान कर लीजिए. 

आगरा एसएन मेडिकल कॉलेज की डॉ. योगिता गौतम की हत्या, सीनियर पर केस

योगिता के परिजन ज्यादा बातचीत करने की स्थिति में नहीं हैं. पुलिस को उनसे जानकारी मिली है कि डॉक्टर विवेक तिवारी लंबे समय से डॉक्टर योगिता गौतम को परेशान कर रहा था. विवेक एमबीबीएस के समय से योगिता के पीछे पड़ा हुआ था और शादी का दबाव बना रहा था. योगिता विवेक से कोई रिलेशन नहीं रखना चाहती थी. विवेक कभी भी योगिता को फोन करके तरह-तरह की धमकी देने लगता था.

आगरा: बस मालिक की कोरोना से हुई मौत तो कर्ज देने वाले ने किया बस को हाइजैक

पुलिस का कहना है कि डॉक्टर विवेक तिवारी से पूछताछ में बहुत कुछ साफ होगा कि योगिता की हत्या के पीछे क्या वजह है. पुलिस अभी यही मानकर चल रही है कि शादी से इनकार करने पर डॉक्टर विवेक तिवारी ने ही वारदात को अंजाम दिया है. विवेक को जब पुलिस ने उरई में पकड़ा तो उसने आगरा आने तक की बात नहीं कबूली. 

विवेक तिवारी ने उरई में कहा कि वह तो क्वारंटाइन में है, पुलिस को कोई भ्रम हुआ है और उसे फंसाया जा रहा है. पुलिस ने विवेक तिवारी से कहा कि आगरा चलिए, वहीं बातचीत की जाएगी. पुलिस ने कार के बारे में पूछा तो विवेक तिवारी ने उसके बारे में भी शुरू में गुमराह किया लेकिन बाद में बता दिया कि कार कानपुर में खड़ी है.

आज का अखबार नहीं पढ़ पाए हैं।हिन्दुस्तान का ePaper पढ़ें |

अन्य खबरें